GLIBS

अंतरिक्ष के क्षेत्र में भारत ने उठाया बड़ा कदम, खुद का स्पेस स्टेशन बनाने की तैयारी में इसरो

अंतरिक्ष के क्षेत्र में भारत ने उठाया बड़ा कदम, खुद का स्पेस स्टेशन बनाने की तैयारी में इसरो

नई दिल्ली। अंतरिक्ष के क्षेत्र में बड़ा कदम रखते हुए भारत अपना खुद का स्पेस स्टेशन लॉन्च करने की तैयारी कर रहा है। यह बात इसरो प्रमुख के सिवन ने गुरुवार को कही। यह महत्वाकांक्षी परियोजना गगनयान मिशन का विस्तार होगी। नई दिल्ली में मौजूद सिवन ने कहा कि हमें मानव अंतिरक्ष मिशन को लॉन्च करने के बाद गगनयान प्रोग्राम का विस्तार करना होगा। इसीलिए, भारत अपना स्पेस सेंटर लॉन्च करने की तैयारी कर रहा है।

इससे पहले 12 जून को बंगलूरू में इसरो प्रमुख ने कहा था कि चंद्रमा की सतह पर खनिजों के अध्ययन और प्रयोग करने के लिए भारत के दूसरे अभियान 'चंद्रयान-2' 15 जुलाई को रवाना होगा। उन्होंने बताया था कि यह यान छह या सात सितंबर को चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव के पास उतरेगा। चंद्रमा के इस हिस्से के बारे में वैज्ञानिकों के पास ज्यादा जानकारी नहीं है। बता दें कि चंद्रयान-2 का प्रक्षेपण 15 जुलाई को रात 2:51 बजे श्रीहरिकोटा स्थित अंतरिक्ष केंद्र से होगा। इसे जीएसएलवी मार्क-3 रॉकेट अंतरिक्ष में ले जाएगा। इस अंतरिक्ष यान का द्रव्यमान 3.8 टन है। इसमें तीन मॉड्यूल आर्बिटर, लैंडर (विक्रम) और रोवर (प्रज्ञान) हैं।  

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.