GLIBS

Tennis : हार और जीत के हिचकोलों के साथ आगे बढ़ रहा टेनिस स्टार सिद्धार्थ 

गायत्री सिंह  | 05 Dec , 2018 02:05 PM
Tennis : हार और जीत के हिचकोलों के साथ आगे बढ़ रहा टेनिस स्टार सिद्धार्थ 

रायपुर। प्रदेश के टेनिस स्टार सिद्धार्थ विश्वकर्मा गोंडवाना कप के सेमिफ़ाइनल में अपनी जगह बना चुके है। इन्होने अपने बेहतरीन खेल से देश में टॉप 15 खिलाड़ीयों में 11 वा रेंक हासिल किया है। देश के साथ मलेशिया, पिछले वर्ष के चैम्पियन सिद्धार्थ अपने टेनिस के जूनून के बारे में बताते है की 7 वर्ष की उम्र में चाचा के दोस्त राजेश मिश्रा ने पहला परिचय टेनिस से कराया। इनके बाद अनिल चौहान मेरे कोच और मार्गदर्शक रहे जिन्होंने टेनिस में खेल को समझना सिखाया। आज कमलेश शुक्ला मेरे कोच है। इन तीन नामों का मेरे खेल में बराबर योगदान रहा। 

इन्होने अपने टेनिस हार का मुह देखना पड़ा। दुबारा जितने के लिए अथक परिश्रम कर फिर 2017 में कप जितना बेहतर अनुभव रहा मेरे लिए। इंडोनेशिया, मलेशिया और थाईलेंड में हुए चैम्पियनशिप में भाग लिया था। आगे सफ़र के बारे में कहा की जीत और हार के हिचकोले खाते रहे है। बात 2016 की है जब सेमीफाइनल में पहुँच कर यूरोप में खेलने का अनुभव लेने वाला हूँ। मेरे कोच कमलेश शुक्ला ने बताया की यूरोप के टफ खिलाड़ियों के साथ खेलना मेरे खेल में सुधार लायेगा। 

बता दें की बुधवार की सुबह हुए क्वाटर फाइनल मुकाबले में प्रथम वरीयता प्राप्त सिद्धार्थ विश्वकर्मा ने 6-1,6-1 सीधे मुकाबले में तेलंगाना के ऋषभ अग्रवाल को हराया है। वही इस जीत के साथ सिद्धार्थ दस लाख की ईनामी राशी वाले गोंडवाना कप आल इंडिया टेनिस टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में पहुँच चुके है। यह चैम्पियनशिप राजधानी के वीआईपी क्लब में खेला जा रहा है।