GLIBS

खेल संघों की आपसी गुटबाजी और खींचतान से खिलाड़ी कर रहे सफर : प्रवीण जैन

राहुल चौबे  | 15 Jun , 2020 03:22 PM
खेल संघों की आपसी गुटबाजी और खींचतान से खिलाड़ी कर रहे सफर : प्रवीण जैन

रायपुर। कोरोना संकट काल में प्रदेश के नागरिकों में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने अपने उद्बोधन में योग को कारगर मानते हुए जीवन में शामिल करने की बात कही थी। इसके बाद खेल कांग्रेस ने प्रदेश स्तर पर योग को बढ़ावा देने योग प्रतियोगिता आयोजित की है, जिसके बाद से कुछ योग समितियां व संघ द्वारा खुद को योग का मालिक समझ योग के प्रचार प्रसार में अवरोध उत्पन्न कर रहे हैं। छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस स्पोर्ट्स सेल के प्रदेश अध्यक्ष प्रवीण जैन ने कहा कि यह हमारे साथ यह पहली बार नहीं हो रहा, जब हम प्रदेश के खिलाड़ियों को मंच देने बॉडीबिल्डिंग प्रतियोगिया करा रहे थे तब बॉडीबिल्डिंग संघ के एक गुट ने हमारे खिलाफ खिलाड़ियों को भड़काने व प्रतियोगिता में शामिल होने पर बहिष्कार की चेतावनी जारी की गई, इसी तरह CPL क्रिकेट ट्रायल के समय पूरे प्रदेश में खिलाड़ियों को हमारे ट्रायल से दूर रहने की चेतावनी दी गई, टाईक्वांडो संघ द्वारा किसी खेल कार्यक्रम में शामिल होने पर कई खिलाड़ियों को बैन कर दिया गया था, अन्य बहुत से खेलों में ऐसा ही होता आ रहा है, हमारा मानना है कि यदि कोई संस्था गली-मोहल्ले स्तर पर भी खेल आयोजन कराती है तो उसे भी खेल संघों को बढ़ावा देना चाहिए, ना कि उसे कुचलने का कुत्सित प्रयास करना चाहिए।

प्रतियोगिता कोई भी हो खिलाड़ी जितना खेलेगा वह उतना निखरेगा। प्रदेश में खेल संघों की आपसी गुटबाजी, व्यक्तिगत मतभेद, खिलाड़ियों की खींचतान, खुद को श्रेष्ट साबित करने, खिलाड़ियों का मालिक बनने की होड़ के चक्कर में अभी तक खेल और खिलाड़ियों का नुकसान होता आया है। अब इस पर लगाम लगाया जाएगा। किसी भी खिलाड़ी के साथ अन्याय नहीं होगा। प्रदेश का प्रत्येक खिलाड़ी एकजुट व जागरूक हो गया है। अब इन संघों की मानसिकता को सार्वजनिक किया जाएगा व अन्य सभी तरह की शासकीय व कानूनी कार्यवाही के लिए भी खिलाड़ी बाध्य होंगे।

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.