GLIBS

राज्य स्तरीय खेल प्रतियोगिता के लिए समितियां गठित

ग्लिब्स टीम  | 28 Nov , 2019 10:48 PM
राज्य स्तरीय खेल प्रतियोगिता के लिए समितियां गठित

रायपुर। छत्तीसगढ़ के जनजातीय क्षेत्रों में संचालित एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालयों की राज्य स्तरीय खेल प्रतियोगिता 2 दिसम्बर से 4 दिसम्बर तक आयोजित की जा रही है। यह प्रतियोगिता कोटा स्टेडियम, खेल संचालनालय परिसर, साईंस कालेज और शारीरिक शिक्षा विभाग पंडित रविशंकर विश्वविद्यालय में आयोजित होंगी। खेल प्रतियोगिताएं बालक और बालिका 14 एवं 19 वर्ष समूह की होंगी। एथलेटिक में 100, 200, 400, 1500, 4 गुणा 100, 4 गुणा 400, ऊंची कूद, लंबी कूद, गोला फेंक, तवा फेंक, लड़कियों की 3 किलोमीटर पैदल चाल और लड़कों की 5 किलोमीटर पैदल चाल की होगी। इसके साथ ही बालक और बालिका वर्ग 14 और 19 वर्ष में बैंटमिंटन, फुटबाल बालक एवं बालिका 14 वर्ष, हैंडबॉल बालक एवं बालिका 14 एवं 19 वर्ष, कबड्डी बालक एवं बालिका 14 एवं 19 वष, खो-खो बालक एवं बालिका 14 एवं 19 वर्ष, ताईक्वाण्डा एवं कराटे बालक एवं बालिका 14 एवं 19 वर्ष, वॉलीबॉल बालक एवं बालिका 14 एवं 19 वर्ष और तीरंदाजी बालक एवं बालिका 14 एवं 19 वर्ष की प्रतियोगिताएं आयोजित की गई है।

राज्य स्तरीय खेल प्रतियोगिता के आयोजन को सम्पन्न कराने के लिए विभिन्न समितियां गठित कर अधिकारियों और कर्मचारियों को दायित्व सौंपते हुए कर्त्तव्यस्थ किया गया है। सभी संबंधित अधिकारियों-कर्मचारियों को अपने कर्त्तव्यों का निर्वहन सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए है। कलेक्टर रायपुर एस. भारतीदासन की अध्यक्षता में जिला स्तरीय आयोजन समिति का गठन किया गया है। समिति में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक रायपुर आरिफ हुसैन शेख को उपाध्यक्ष और अपर कलेक्टर रायपुर पदमनी भोई को सचिव बनाया गया है। समिति प्रशासकीय नियंत्रण तथा कार्यक्रम के सफल संचालन के लिए आवश्यक मार्गदर्शन प्रदान करेगी। इसके अलावा नियंत्रण एवं पूछताछ समिति, वित्त एवं क्रय समिति, स्टोर एवं भण्डार समिति, सूचना एवं प्रकाशन (प्रचार-प्रसार समिति), पात्रता प्रमाण पत्र जांच समिति, आवास एवं भोजन समिति, परिवहन एवं यातायात समिति, पेयजल समिति, चिकित्सा (रेडक्रास दल) समिति, अभिलेख (खेल प्रतियोगिता संबंधित अभिलेख एवं परिणाम का संकलन) समिति, खेल मैदान निर्माण समिति, जूरी ऑफ अपील, मास्टर ऑफ सेरेमनी, मंच व्यवस्था एवं उदघोषणा समिति, खेल विधावार प्रतियोगिता संपादन समिति का गठन किया गया है। 

 

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.