GLIBS

सीबीआई ने गायत्री प्रजापति के घर समेत 22 जगहों पर की छापेमारी 

सीबीआई ने गायत्री प्रजापति के घर समेत 22 जगहों पर की छापेमारी 

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश के पूर्व खनन मंत्री रहे गायत्री प्रजापति के ठिकानों पर सीबीआई ने छापेमारी की है। खनन घोटाले की जांच कर रही सीबीआई बुधवार को अमेठी में गायत्री प्रजापति के आवास समेत 22 ठिकानों पर छापेमारी की। गायत्री के परिजनों से पूछताछ की जा रही है। फिलहाल गायत्री प्रजापति रेप के आरोप में जेल में बंद हैं। गायत्री प्रजापति अखिलेश यादव की सपा सरकार में खनन मंत्री रहे हैं। उन पर अवैध खनन के कई बार आरोप लग चुके हैं. वे एक महिला से साथ गैंगरेप के भी आरोपी हैं। इस मामले में वे इलाहाबाद हाईकोर्ट में जमानत के लिए गए थे, लेकिन कोर्ट उनकी याचिका खारिज कर चुका है।

इस मामले में पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की भी जांच हो सकती है। वे 2012 से 2017 के मुख्यमंत्री थे। अवैध खनन का मामला 2012-2016 के बीच सामने आया था। सीबीआई सूत्रों ने इंडिया टुडे को बताया कि 2012-2016 के बीच यूपी सरकार की ओर से जारी 22 टेंडर की जांच की जा रही है। इनमें 14 टेंडर ऐसे हैं जो अखिलेश यादव के मुख्यमंत्रित्व काल 2012-13 के बीच के हैं। सूत्रों के मुताबिक 22 मामलों में 14 मामले ऐसे हैं जो अखिलेश यादव के खनन मंत्री रहने के दौरान हुए जबकि बाकी मामले गायत्री प्रजापति के समय की हैं जब वे भी खनन मंत्री थे।

इससे पहले जनवरी में भी सीबीआई ने यूपी के कई स्थानों पर छापेमारी की थी। इसमें वरिष्ठ आईएएस अधिकारी बी. चंद्रकला का नाम भी शामिल था जिनके घर पर छापेमारी हुई थी। चंद्रकला बिजनौर, बुलंदशहर और मेरठ की कलेक्टर रह चुकी हैं। अखिलेश यादव सरकार में चंद्रकला अवैध खनन मामले को लेकर प्रकाश में आई थीं।