GLIBS

नया वर्ष भी उद्योग-व्यापार जगत के लिए होगा काफी बेहतर: डॉ. रमन 

ग्लिब्स टीम  | 13 Jan , 2018 07:13 PM
नया वर्ष भी उद्योग-व्यापार जगत के लिए होगा काफी बेहतर: डॉ. रमन 

रायपुर। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि राज्य के आर्थिक विकास में वाणिज्य और उद्योग जगत का योगदान बहुत महत्वपूर्ण है। छत्तीसगढ़ में व्यापार-व्यवसाय और उद्योगों के लिए काफी अनुकूल वातावरण है। नया वर्ष 2018 भी प्रदेश के उद्योग-व्यापार जगत के लिए नयी संभावनाओं के साथ काफी बेहतर साबित होने वाला है। 
मुख्यमंत्री प्रदेश के संभागीय मुख्यालय बिलासपुर में पांच दिनों तक चलने वाले राष्ट्रीय उद्योग और व्यापार मेले का शुभारंभ करने के बाद लोगों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने इस अवसर पर एक स्मारिका का भी विमोचन किया। मेले का आयोजन छत्तीसगढ़ लघु एवं सहायक उद्योग संघ द्वारा भारतीय लघु उद्योग विकास बैंक और सूक्ष्म, लघु, उद्यम विकास संस्थान तथा कुछ अन्य प्रमुख संस्थाओं के सहयोग से किया गया है। यह इस आयोजन का 18वां वर्ष है।  
मुख्यमंत्री ने मेले का शुभारंभ करते हुए कहा कि अधोसंरचना विकास के क्षेत्र में छत्तीसगढ़ में काफी काम हो रहा है। सड़कों के नेटवर्क के साथ-साथ रेल नेटवर्क, संचार नेटवर्क और विमान कनेक्टिविटी बढ़ाने के जो प्रयास हो रहे हैं, विगत 14 वर्ष में उनके काफी सार्थक नतीजे मिलने लगे हैं। इनका फायदा आम जनता के साथ-साथ उद्योग व्यापार जगत को भी मिलेगा। उन्होंने मेले के आयोजन की प्रशंसा की। डॉ. सिंह ने कहा - भारतीय रिजर्व बैंक और ग्लोबल रेटिंग एजेंसी क्रिसिल ने भी अपनी रिपोर्ट में छत्तीसगढ़ के वित्तीय प्रबंधन की तारीफ की है। सामाजिक क्षेत्र की योजनाओं में छत्तीसगढ़ सर्वाधिक राशि खर्च करने वाला राज्य है। बेहतर बुनियादी संरचनाओं (अधोसंरचनाओं) के मामले में हम गुजरात के बाद देश में दूसरे स्थान पर हैं। व्यापार व्यवसाय और उद्योगों को बढ़ावा देने के लिए छत्तीसगढ़ ने नियमों का सरलीकरण किया है। 
    मुख्यमंत्री ने कहा - बिलासपुर में विगत 18 साल से प्रतिवर्ष लगातार आयोजित हो रहे राष्ट्रीय उद्योग और व्यापार मेले का मैं भी देख रहा हूं। विगत 18 साल में इस मेले के बदलते स्वरूप को भी मैंने देखा है। यह मेला दस-बीस स्टालों से शुरू हुआ था और आज इसमें 500 स्टाल लगाए जाते हैं। करोड़ों की खरीददारी होती है। इससे व्यापार-व्यवसाय बढ़ता है और लोगों को रोजगार के भी अवसर मिलते हैं। बिलासपुर के राष्ट्रीय उद्योग-व्यापार मेले ने छत्तीसगढ़ को भी देश के उद्योग-व्यापार जगत में अच्छी पहचान दिलाई है।  मुख्यमंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ राज्य ने भी अपने निर्माण के 18वें साल में प्रवेश किया है। व्यक्ति के जीवन में 18 साल की उम्र ऊर्जा से भरपूर होती है। छत्तीसगढ़ राज्य भी आज पूरे उत्साह के साथ विकास के विभिन्न क्षेत्रों में नई ऊचाईयों तक पहुंचने के लिए लम्बी छलांग लगा रहा है। डॉ. सिंह ने कहा - राज्य में बस्तर से सरगुजा तक सड़कों का नेटवर्क तेजी से विकसित हो रहा है। सूचना और संचार क्रांति में भी छत्तीसगढ़ तेजी से आगे बढ़ रहा है। भारत नेट परियोजना के तहत प्रदेश की लगभग ग्यारह ग्राम पंचायतों को इंटरनेट से जोड़ने के लिए ऑप्टिकल फायबर नेटवर्क विकसित किया जा रहा है। इसके दूसरे चरण में 1624 करोड़ रूपए से ज्यादा लागत के 32 हजार किलोमीटर से अधिक ऑप्टिकल फायबर केबल बिछाये जाएंगे। इस परियोजना से प्रदेश की ग्राम पंचायतों को राजधानी रायपुर में राज्य सरकार के साथ वीडियो कॉन्फ्रेसिंग करने की भी सुविधा मिलेगी। संचार क्रांति योजना के तहत राज्य के 50 लाख से ज्यादा लोगों को स्मार्ट फोन देने की तैयारी की जा रही है। मुख्यमंत्री ने अपने उदबोधन में बिलासपुर में छत्तीसगढ़ लघु एवं सहायक उद्योग संघ के सहयोग से संचालित महिला औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान (आईटीआई) की भी काफी प्रशंसा की। उन्होंने मेले में लगाए गए स्टालों को भी देखा और उद्यमियों से बातचीत की। राष्ट्रीय उद्योग-व्यापार मेले के शुभारंभ समारोह में प्रदेश के वाणिज्य और उद्योग मंत्री अमर अग्रवाल, विधानसभा उपाध्यक्ष बद्रीधर दीवान, लोकसभा सांसद लखनलाल साहू, छत्तीसगढ़ विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष धरमलाल कौशिक, छत्तीसगढ़ राज्य औद्योगिक विकास निगम (सीएसआईडीसी) के अध्यक्ष छगनलाल मूंदड़ा, संसदीय सचिव राजू सिंह क्षत्रीय, छत्तीसगढ़ गृह निर्माण मंडल के अध्यक्ष भूपेंद्र सवन्नी, छत्तीसगढ़ राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष हर्षिता पांडेय तथा नगर निगम बिलासपुर के महापौर किशोर राय, सहित अनेक वरिष्ठ जनप्रतिनिधि और विभिन्न संस्थाओं के पदाधिकारी उपस्थित थे।  छत्तीसगढ़ लघु एवं सहायक उद्योग संघ बिलासपुर के अध्यक्ष हरीश केड़िया ने मुख्यमंत्री सहित सभी अतिथियों का स्वागत किया।

Visitor No.