GLIBS

किसानों की ऋण माफी से आया उनके जीवन स्तर में सुधार : उद्योग मंत्री

ग्लिब्स टीम  | 14 Aug , 2019 03:45 PM
किसानों की ऋण माफी से आया उनके जीवन स्तर में सुधार : उद्योग मंत्री

महासमुन्द। उद्योग तथा जिले के प्रभारी मंत्री कवासी लखमा ने महासमुंद में आयोजित कृषक ऋण माफी तिहार कार्यक्रम में उपस्थित कृषकों को संबोधित करते हुए कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा किसानों के हित में अनेक कदम उठाए गए हैं, इसके अंतर्गत किसानों के ऋण माफी का कार्य वृहद स्तर पर किया गया हैं। किसानों को ऋण माफी से उनके जीवन स्तर में सुधार आया है और उनके चेहरों पर खुशियां झलक रही है। उन्होंने कहा कि बस्तर से लेकर सरगुजा तक बड़ी संख्या में किसानों के कृषि ऋण माफ  किए गए हैं। महासमुंद जिले में राज्य शासन द्वारा ऋण माफी योजना अंतर्गत सहकारी समितियों 81 हजार 132 किसानों को 377 करोड़ 35 लाख रूपए का ऋण माफी का लाभ दिया गया है। प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के संवेदनशील मार्गदर्शन में किसानों को आर्थिक रूप से मजबूत बनाने का कार्य किया जा रहा है।

इस दौरान राज्यसभा सांसद छाया वर्मा, बसना विधायक देवेन्द्रबहादुर सिंह, महासमुंद विधायक विनोद चंद्राकर, खल्लारी विधायक द्वारिकाधीश यादव, सरायपाली विधायक किस्मतलाल नंद, दाउलाल चंद्राकर, आलोक चंद्राकर, अजय नंद, मंजीत सलूजा, हार्दिक नंद, कलेक्टर सुनील कुमार जैन, पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार सिंह विशेष रूप से उपस्थित थे। प्रभारी मंत्री कवासी लखमा ने कहा कि राज्य शासन द्वारा छत्तीसगढ़ की संस्कृति, परम्परा एवं तीज त्यौहारों को ध्यान में रखते हुए हरेली तिहार, विश्व आदिवासी दिवस, तीज, कर्मा जयंती आदि पर अवसरों पर अवकाश की घोषणा की गई है। सार्वजनिक खाद्यान्न सुरक्षा योजना के तहत हितग्राहियों के कार्ड का नवीनीकरण किया जा रहा है। इसका लाभ राशन कार्डधारियों को मिलेगा। कुपोषण दूर करने के उद्देश्य से कमजोर बच्चों को दूध, अण्डा, केला आदि का भी वितरण सुनिश्चित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि राज्य शासन की सर्वोच्च प्राथमिकता वाली योजना नरवा, गरूवा, घुरूवा और बाड़ी के तहत विभिन्न कार्य संपादित किए जा रहे हैं। इसके अंतर्गत गौठान निर्माण के कार्य अच्छा एवं सुव्यवस्थित होना चाहिए, क्योंकि यह किसान से जुड़ा हुआ है। उन्होंने कहा कि जिले में हरियाली को बढ़ावा देने के उद्देश्य से अधिक पौधरोपण की आवश्यकता है। बड़ी संख्या में पौधरोपण से पर्यावरण संरक्षण के साथ जल संरक्षण भी होगा। 

जिले में आयोजित कृषक ऋण माफी तिहार कार्यक्रम को संबोधित करते हुए राज्यसभा सांसद छाया वर्मा ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा किसानों के कर्जमाफी के साथ-साथ 25 सौ रूपए समर्थन मूल्य पर धान खरीदी की गई है, जिससे किसानों का जीवन खुशहाल हुआ है और उसके जीवन में व्यापक परिवर्तन आया है। उन्होंने कहा कि राज्य शासन द्वारा आम लोगों की भलाई के लिए कार्यक्रम चलाए जा रहे है। उन्होंने यह भी कहा कि शराब बंदी के लिए लोगों में सभी के सहयोग से जागरूकता लाए जाएगा। इस अवसर पर बसना विधायक देवेन्द्रबहादुर सिंह ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा किसानों को मजबूत और आर्थिक रूप से सुदृढ़ करने का प्रयास किया जा रहा है। किसानों का धान आगामी 5 वर्षों में 25 सौ रूपए समर्थन मूल्य के हिसाब से ही खरीदा जाएगा। 
विधायक महासमुंद विनोद चंद्राकर ने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा किसान हित में ऋण माफी, बिजली बिल हाफ, समर्थन मूल्य पर धान खरीदी का कार्य किसा गया है और इससे किसानों की स्थिति सुधरी है। विधायक खल्लारी द्वारिकाधीश यादव ने कहा कि राज्य शासन द्वारा प्रदेश के किसानों के 11 हजार करोड़ से अधिक रूपए की ऋण को माफ किया गया है, जो अपने आप में महत्वपूर्ण है। इसके अलावा 25 सौ रूपए प्रति क्विंटल की दर से धान की खरीदी भी की गई है। सरायपाली विधायक किस्मतलाल नंद ने कहा कि प्रदेश सरकार ने छत्तीसगढ़ के 16 लाख 65 हजार किसानों के 11 हजार करोड़ रूपए की ऋण माफी का कार्य की गई, जो देश के किसी भी राज्य में नहीं हुआ है। उन्होंने नरवा, गरूवा, घुरूवा और बाड़ी योजना को किसानों के लिए अत्यंत लाभकारी बताया। इस दौरान आलोक चंद्राकर ने भी कार्यक्रम को संबोधित किया।

इस अवसर पर केंद्रीय सहकारी बैंक के नोडल अधिकारी श्री नायक ने अतिथियों के स्वागत किया और बताया कि कृषक ऋण काफी तिहार के अंतर्गत जिले की सहकारी समितियों के 81 हजार 132 किसानों को 377 करोड़ 35 लाख रूपए का ऋण माफी का लाभ दिया गया है। उन्होंने बताया कि जिले में सहकारी बैंक की 12 शाखाएं है एवं 81 कृषि साख सहकारी समितियां कार्यरत है। विधानसभावार उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि महासमुंद विधानसभा में 13 हजार 555 किसानों को 54 करोड़ 38 लाख रूपए, खल्लारी विधानसभा में 26 हजार 338 किसानों को 106 करोड़ 20 लाख रूपए, बसना विधानसभा में 21 हजार 72 किसानों को 109 करोड़ 49 लाख रूपए तथा सरायपाली विधानसभा में 20 हजार 167 किसानों को 107 करोड़ 27 लाख रूपए का ऋणमाफी किया गया है। कार्यक्रम का मंच संचालन तोषणगिरी गोस्वामी ने किया तथा आभार प्रदर्शन सहकारी संस्था के सहायक पंजीयक आरडी कुलहाड़ा ने किया। इस अवसर पर जनप्रतिनियों के अलावा बड़ी संख्या में किसान एवं नागरिकगण उपस्थित थे।

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.