GLIBS

शराब व पैसों के सहारे चुनाव लडऩा भाजपा की संस्कृति : विकास तिवारी

ऋषभ दीवान  | 21 Apr , 2019 10:25 PM
शराब व पैसों के सहारे चुनाव लडऩा भाजपा की संस्कृति : विकास तिवारी

रायपुर। छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता विकास तिवारी ने कल रायपुर के शैलेंद्र नगर में करोड़ों रुपयों की अवैध राशि के बरामदगी और 358 करोड़ रुपए के लेनदेन को कांग्रेस पार्टी का होने पर कहे जाने को हास्यास्पद बताया है और शराब और पैसों के बल पर चुनाव लडऩा भारतीय जनता पार्टी की संस्कृति बताया है। विकास तिवारी ने कहा कि विगत 15 वर्षों तक इस तरह के अवैध कार्य में लिप्त रहने वाली भाजपा खुद की राशि को कांग्रेस का होना बताकर शर्मिंदगी से बचने का प्रयास कर रही है। राष्ट्रीय स्तर पर भाजपा ने सैकड़ों करोड़ रुपए की अवैध राशि चंदे के नाम पर लेने लेना स्वयं स्वीकार किया है जबकि अन्य सभी दलों को मिलाकर राजनीतिक दलों को मिलने वाली राशि का मात्र 2 प्रतिशत हिस्सा होता है। भाजपा को वर्ष 2016-17 में 997 और 2017-18 में 990 करोड़ रुपए चंदे के रूप में प्राप्त हुए हैं जो सभी दलों को मिलाकर प्राप्त राशि का कुल 92 प्रतिशत है और भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष कौन है यह आज तक रहस्य बना हुआ है। विकास तिवारी ने कहा कि छत्तीसगढ़ राज्य में हुए विधानसभा चुनावों में भाजपा प्रत्याशियों ने राज्य की गरीब जनता को 15 वर्षोंं तक लूटकर कमाई गई राशियों में से करोड़ों रुपए खर्च किया था लेकिन राज्य की जनता ने भाजपा के पैसों को तहजीब न देकर कांग्रेस के गरीब प्रत्याशियों को अभूतपूर्व सफलता दिलाई है लोकसभा चुनाव में भी भाजपा का राज्य में सफाया होना तय है इसी से बौखला कर भाजपा नेता ऊल-जुलूल बयान बाजी कर रहे हैं। भाजपा प्रवक्ता संजय श्रीवास्तव ने स्वयं रायपुर विकास प्राधिकरण के  अध्यक्ष रहते हुए 250 करोड़ की जमीन को नियमों को ताक पर रखकर कौडिय़ों के भाव में आवंटित की है और उसे ध्यान भटकाने के लिए भाजपा प्रवक्ता सतही स्तर का वक्तव्य जारी कर रहे हैं लेकिन इस तरह की बयानबाजी कर के वह बच नहीं सकते क्योंकि कांग्रेस सरकार गरीबों के लूट गए पैसों पैसों का हिसाब कर दोषियों को अवश्य दंडित करेगी