GLIBS

गौठान से जुड़कर महिलाओं के सपने हो रहे साकार,रीना ने खरीदी सोने की बाली

रविशंकर शर्मा  | 19 Jun , 2021 05:15 PM
गौठान से जुड़कर महिलाओं के सपने हो रहे साकार,रीना ने खरीदी सोने की बाली

रायपुर। रीना चक्रधारी को लगता है कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सुराजी गांव योजना महिलाओं के लिए ही लागू की है। हालांकि इस योजना में ऐसा कोई बंधन नहीं है, स्त्री-पुरुष सभी इससे लाभांवित हो रहे हैं। रीना ने मुख्यमंत्री से कहा कि बहुत दिनों से सोने की बाली बनाने की इच्छा थी, जो अब जाकर पूरी हुई। दरअसल कांकेर जिले के नवागांव भावगीर की रीना चक्रधारी के गांव में जब गौठान शुरू किया गया तो दूसरी बहुत सी महिलाओं के साथ मिलकर उसने भी गोबर से वर्मी कंपोस्ट बनाने का काम शुरू किया। इस काम से 1 लाख 51 हजार रुपए कमाए। महिलाओं ने जितना सोचा था, उससे ज्यादा मिला। इससे उनका उत्साह बढ़ गया। 

जय मां अंबे स्व सहायता समूह की रीना चक्रधारी अपने समूह की 10 महिलाओं के साथ जिस गौठान में वे वर्मी कंपोस्ट बनाया करती थीं, उसी में सब्जियों का उत्पादन भी शुरू कर दिया। सब्जियों की खेती के साथ-साथ मशरूम और फूलों और सब्जी की खेती भी करने लगीं। उन्हें सब्जियों से भी 83 हजार रुपए की आमदनी हो चुकी है। समूह की दूसरी 10 सदस्यों की तरह रीना के जीवन में भी बदलाव शुरू हो गया। परिवार की माली हालत सुधर गई। रीना अब अपने बच्चे की पढ़ाई लिखाई पर खूब ध्यान देना चाहती हंै। परिवार की जरुरतें पूरी होने के बाद भी कुछ  पैसे हाथ में बच जाते हैं। इन्हीं पैसों से उन्होंने अपने लिए सोने की बाली खरीदकर अपना एक सपना भी पूरा कर लिया। 
कांकेर जिले में विकास कार्यों के लोकार्पण और भूमिपूजन समारोह में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने रीना से बातचीत की। रीना ने उन्हें बताया कि शासन के दूसरे विभाग के अधिकारी भी उनके गौठान में आते हैं। वे  नई-नई योजनाओं की जानकारी देते हैं। गौठानों के माध्यम से महिलाओं के जीवन में आ रहे बदलाव को देखते हुए रीना सोचती हैं कि यह योजना महिलाओं के लिए ही लाई गई है। उन्होंने मुख्यमंत्री से कहा आपने बहुत अच्छा किया है। आपका धन्यवाद। मुख्यमंत्री ने उनसे कहा कि शासन की योजनाओं का लाभ लेकर दूसरे लोगों को भी आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करें।

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.