GLIBS

भाजपा को जब बस्तर की चिंता करना था तब कमीशनखोरी-भ्रष्टाचार में मस्त थे : कांग्रेस

रविशंकर शर्मा  | 29 Aug , 2021 09:32 PM
भाजपा को जब बस्तर की चिंता करना था तब कमीशनखोरी-भ्रष्टाचार में मस्त थे : कांग्रेस

रायपुर। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा है कि सत्ता जाने के बाद भाजपा का बस्तर में चिंतन शिविर आयोजित करना महज एक राजनीतिक नौटंकी है। बस्तर वासियों को पता है यही वह भाजपा है जिन्होंने 15 साल तक उन्हें प्रताड़ित और शोषित करने काम किया है। आरएसएस भाजपा मोदी के मित्रों को बस्तर के खनिज संपदा जल जंगल जमीन और नगरनार संयंत्र को कैसे सौपे इसको लेकर चिंता कर रही है। आरएसएस भाजपा में थोड़ी बहुत भी नैतिकता बाकी होगी,शर्म बाकी होगी तो उन्हें बस्तर के चिंतन शिविर में छत्तीसगढ़ के नगरनार संयंत्र, एयरपोर्ट रेलवे स्टेशन सहित सरकारी उपक्रमों को,जो मोदी सरकार ने बेचने की नीति तय की है,उसके खिलाफ संकल्प पारित करना चाहिए।
धनंजय ने कहा है कि जब छत्तीसगढ़ की जनता ने भाजपा को सत्ता सौंपी तब भाजपा 15 साल तक कमीशनखोरी भ्रष्टाचार करने में मशगूल रही है।

बस्तरवासी रमन सरकार के दौरान नरकीय जीवन जीने मजबूर थे। उस दौरान बस्तर के आदिवासियों वनवासियों के जल जंगल जमीन पर कब्जा करना भाजपा का मुख्य एजेंडा रहा है। आदिवासियों वनवासियों को मिले कानूनी अधिकार का भी हनन किया गया। निर्दोष आदिवासियों को नक्सली बताकर जेल में बंद किया गया,झूठे मामलों में फंसाया गया। आदिवासी बेटियों के साथ दुष्कर्म की अनेक घटनाएं भी हुई। अनैतिक तरीके अपनाकर प्रताड़ित किया गया। अनेक प्रकार से यातनाएं दी गई। शोषण किया गया । बस्तर के विकास को बाधित किया गया। बस्तर विकास प्राधिकरण में बस्तर के जनप्रतिनिधियों को अधिकार नहीं दिया गया। बिजली सड़क पानी रोजगार के ओर ध्यान नही दिया गया।

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.