GLIBS

भाई के रूप में विकास उपाध्याय, शहीद की विधवा से साझा किया दर्द और दिलाया विश्वास भी, भाई हो तो ऐसा

यामिनी दुबे  | 21 Jan , 2021 10:42 AM
भाई के रूप में विकास उपाध्याय, शहीद की विधवा से साझा किया दर्द और दिलाया विश्वास भी, भाई हो तो ऐसा

रायपुर। जनप्रतिनिधि के रूप में संसदीय सचिव विकास उपाध्याय लगातार सक्रिय रहते हैं और जन समस्याओं के निराकरण के लिए वे हर पल उपलब्ध भी रहते हैं। युवा नेता विकास उपाध्याय का अब एक नया रूप सामने आया है। उन्होंने एक शहीद की विधवा  से भाई के रूप में बात की और उन्हें विश्वास दिलाया कि उनका यह भाई उनके सुख दुख में हमेशा उनके साथ खड़ा रहेगा। विकास उपाध्याय का यह नया स्वरूप बेहद प्रशंसनीय है। उन्होंने आज नक्सलवाद की भेंट चढ़े शहीद प्लाटून कमांडर गीता राम राठिया की विधवा माधुरी से दूरभाष पर बात की और उन्हें विश्वास दिलाया कि उनके पति शहीद गीता राम राठिया की प्रतिमा उनके गृह ग्राम सिंघनपुर रायगढ़ में जरूर लगेगी। विकास उपाध्याय ने शहीद की पत्नी को विश्वास दिलाया कि वे उनके भाई समान हैं और उनके सुख-दुख में अब वह हमेशा साथ रहेंगे। वे जब चाहे उनसे संपर्क कर सकती हैं। शहीद गीता राम राठिया की विधवा की लंबे समय से मांग है कि उनके पति की प्रतिमा उनके ग्राम में लगाई जाए।

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.