GLIBS

बारिश के कारण धान नहीं बेच पाए किसानों को फिर से टोकन जारी किया जाएगा : शैलेश

रविशंकर शर्मा  | 06 Feb , 2020 09:44 PM
बारिश के कारण धान नहीं बेच पाए किसानों को फिर से टोकन जारी किया जाएगा : शैलेश

रायपुर। भाजपा के आंदोलन पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि भाजपा का चरित्र ही किसान विरोधी है। भाजपा किसानों को लेकर घड़ियाली आंसू बहाना बंद करें। किसानों के साथ भूपेश बघेल की सरकार और कांग्रेस पार्टी खड़ी है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल धान खरीदी असमय बारिश के कारण आ रही समस्याओं और किसानों को कोई तकलीफ न हो इसके लिए गंभीर है। बेमौसम बारिश से धान को बचाने के लिए कलेक्टरों को निर्देश दिया गया है। बारिश के कारण धान नहीं बेच पाए किसानों को फिर से टोकन जारी किया जाएगा। असमय हो रही बारिश के कारण किसानों को धान बेचने में हुई असुविधा को दूर करने और अभी तक किसानों से खरीदे गए धान को बारिश से बचाने के लिए सरकार युद्ध स्तर पर काम कर रही है।

त्रिवेदी ने कहा कि राज्य में पंजीकृत 19 लाख 52 हजार 736 किसानों से प्रति एकड़ 15 क्विंटल धान खरीदने राज्य सरकार प्रतिबद्ध है। अभी तक 16 लाख से अधिक किसानों के द्वारा धान बेचा जा चुका है 68 लाख 64 हजार मीट्रिक टन धान की खरीदी हो चुकी है, 32 लाख 39 हजार मीट्रिक टन धान मिलरो ने उठा लिया है। सेंट्रल पूल में दो लाख मीट्रिक टन चावल दिया गया है और एफसीआई के गोदामों में 10 लाख मीट्रिक टन चावल पहुंच चुका है। बीते वर्ष 2018-2019 में 15 लाख 71 हजार किसानों से धान खरीदी किया गया था। आज की स्थिति में 16 लाख किसानों का धान खरीद कर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार 85 लाख मैट्रिक टन से अधिक धान खरीदने के लक्ष्य के समीप है। असमय हो रही बारिश से किसानों को धान बेचने में हुई असुविधा एवं अभी तक खरीदे गए धान की सुरक्षा को लेकर राज्य सरकार और कांग्रेस पार्टी दोनों गंभीर है।

त्रिवेदी ने कहा है कि मंत्री अमरजीत भगत ने स्थानीय स्तर पर धान खरीदी केन्द्रों में किसानों को धान बिक्री में हो रही विभिन्न समस्याओं के त्वरित निराकरण के लिए समुचित कार्रवाई करने के निर्देश दिए है। मुख्य सचिव ने भी सभी जिला कलेक्टरों को प्रभावी कार्रवाई के लिए आदेश दिए हंै। खाद्य मंत्री ने असमय बारिश से खरीदी केंद्रों में रखे गए धान को सुरक्षित रखने के निर्देश दिए हैं। खाद्य सचिव कमलप्रीत सिंह ने सभी कलेक्टरों को पत्र लिखकर धान सुरक्षित रखने और किसानों की तकलीफों पर संवदेनशीलता के साथ काम करने को कहा है। राजधानी सहित प्रदेश के अन्य हिस्सों में हो रही बेमौसम बारिश ने किसानों की चिंता बढ़ा दी है। बारिश और ओले के मद्देनजर सरकार के द्वारा धान खरीदी केंद्रों में धान सुरक्षित करने के निर्देश दिए गए हैं।

 

ताज़ा खबरें

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.