GLIBS

मुख्यमंत्री की टेबल पर लगे आईपैड को लेकर गरमाया सदन, स्पीकर ने कहा...

रविशंकर शर्मा  | 16 Jan , 2020 04:27 PM
मुख्यमंत्री की टेबल पर लगे आईपैड को लेकर गरमाया सदन, स्पीकर ने कहा...

रायपुर। छत्तीसगढ़ विधानसभा का विशेष सत्र शुरूआत से ही हंगामे भरा रहा। राज्यपाल के अभिभाषण के दौरान विपक्ष के वॉक आउट से दोपहर 1 बजे तक स्थगित की गई। कार्यवाही शुरू होते ही, विपक्ष ने नया मुद्दा उठाते हुए हंगामा शुरू किया। दरअसल मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की टेबल पर लगी इलेक्ट्रॉनिक आईपैड को लेकर विपक्ष ने आपत्ति जताई, विरोध में नारेबाजी की गई और उसे हटाने की मांग भी हुई। विपक्ष का कहना था कि बगैर अधिसूचना जारी किए नहीं लगाया जा सकता, ये सदन का विशेषाधिकार है। संसदीय कार्य मंत्री रविन्द्र चौबे ने कहा कि इस सदन में बगैर अध्यक्ष की अनुमति के कोई चीज नहीं लग सकती है।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि सचिवालय से जानकारी मिली है कि ये सभी सदस्यों के टेबल पर लगेगा। इससे सदस्यों को स्क्रीन पर ही जानकारी मिलेगी। विधानसभा अध्यक्ष चरणदास महंत ने कहा कि छत्तीसगढ़ विधानसभा पेपरलेस वर्किंग की ओर बढ़ रही है। ये शुरुआत है और ये सभी की टेबल पर लगेगा। उन्होंने सदस्यों की आपत्ति के चलते व्यवस्था देकर हटवाया। इधर विधानसभा परिसर की लॉबी में पत्रकारों से चर्चा करते हुए डॉ. रमन सिंह ने कहा कि राज्यपाल के अभिभाषण की विधानसभा में जो परंपरा थी, आज वह टूट गई। यह परंपरा गलत है और हम इसका भागीदार नहीं बन सकते इसलिए हमने राज्यपाल के अभिभाषण का बहिष्कार किया है। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश में एससी-एसटी आरक्षण बढ़ाने लाये जा रहे संशोधन के अनुसमर्थन को लेकर दो दिन का विशेष सत्र बुलाया गया है, लेकिन यहां एक दिन का बुलाया गया है। संसदीय कार्यमंत्री रविन्द्र चौबे ने विपक्ष के वॉक आउट को महज राजनीति करार दिया। उन्होंने कहा कि परंपरा रही है कि नए वर्ष में होने वाला सत्र राज्यपाल के अभिभाषण के साथ शुरू होता है,इसलिए सत्र की कार्यसूची में हमने राज्यपाल का अभिभाषण भी समाहित किया। हमने सदन की कोई परंपरा नहीं तोड़ी है।

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.