GLIBS

डॉ.रमन सिंह पहुंचे पाटन,कहा-अंतिम सांस तक लड़ेंगे कार्यकर्ताओं के लिए,विजय बघेल का अनशन तुड़वाया

रविशंकर शर्मा  | 18 Oct , 2020 08:48 PM
डॉ.रमन सिंह पहुंचे पाटन,कहा-अंतिम सांस तक लड़ेंगे कार्यकर्ताओं के लिए,विजय बघेल का अनशन तुड़वाया

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के नेताओं ने रविवार को पाटन पहुंचकर भाजपा कार्यकर्ताओं के खिलाफ कार्रवाई का विरोध किया। पूर्व मुख्यमंत्री व भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ.रमन सिंह, सांसद रामविचार नेताम,विधायक बृजमोहन अग्रवाल,नारायण चंदेल,पूर्व मंत्री प्रेमप्रकाश पाण्डेय, नवीन मार्कण्डेय,मोतीलाल साहू व वरिष्ठ भाजपा पदाधिकारी ने दुर्ग सांसद विजय बघेल के धरना स्थल पर पहुंच कर अपना समर्थन दिया। पूर्व मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह के हाथों जूस पीकर सांसद विजय बघेल ने अपना आमरण अनशन खत्म किया। डॉ.रमन सिंह ने धरना स्थल पर अपने उद्बोधन में कहा है कि बदलापुर सरकार के उत्पीड़न के खिलाफ हर जगह हर मोर्चे पर हमारा कार्यकर्ता दृढ़ता से डटा हुआ है। भूपेश सरकार जितनी भी दमनात्मक कार्रवाई कर ले हमारे कार्यकर्ता डरने वाले नहीं है। डॉ.सिंह ने कहा कि यह नहीं भूलना चाहिए कि हमने कांग्रेस का आपातकाल देखा है। इंदिरा गांधी की दमनात्मक कार्रवाई झेली है, इसलिए याद रहे भाजपा कार्यकर्ता भूपेश बघेल की तानाशाही से डरने वाले नहीं हैं और ना ही सहने वाले हैं।

उन्होंने कहा कि यह आंदोलन तो अंगड़ाई है। आगे हर लड़ाई लड़ने हम तैयार हैं। प्रदेश में माफिया राज चल रहा है। शराब माफिया, रेत माफिया, कोयला माफिया और प्रदेश की जनता इस सरकार से त्रस्त हो चुकी हैं। हमें इस सरकार को उखाड़ कर फेंकना है। पाटन से भाजपा कार्यकर्ताओं की आवाज पटना तक भूपेश बघेल तक पहुंचनी चाहिए। विजय बघेल को सर्वाधिक मतों से जनता ने चुन कर भेजा है, उनकी आवाज सरकार को सुननी होगी। भाजपा कार्यकर्ताओं पर दमनात्मक एकतरफा कार्रवाई हो,विजय बघेल जैसा जनप्रतिनिधि अनशन पर बैठे, कार्यकर्ता तकलीफ सहे तो डॉ.रमन को कैसे नींद आ सकती हैं। डॉ.रमन सिंह ने कहा भाजपा का प्रतिनिधिमंडल शनिवार को राज्यपाल के पास गया था। कार्रवाई के विरोध में ज्ञापन सौंपा गया है। राज्यपाल के संज्ञान में बातें लाई गई हैं। आज आमरण अनशन को खत्म कर रहे हैं,लेकिन कार्यकर्ताओं के लिए आखरी सांस तक हमारी लड़ाई जारी रहेगी। सांसद रामविचार नेताम ने भी सभा को संबोधित किया।

 

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.