GLIBS

कांग्रेस चुनावी घोषणा पत्र में किए गए नियमितिकरण के वादे पूरा करें : भाजपा

राहुल चौबे  | 24 Sep , 2020 10:59 AM
कांग्रेस चुनावी घोषणा पत्र में किए गए नियमितिकरण के वादे पूरा करें : भाजपा

रायपुर/जगदलपुर। एनएचएम संविदा स्वास्थ्य कर्मियों की हड़ताल पर भाजपा के पूर्व विधायक संतोष बाफना ने कांग्रेस के चुनावी घोषणा पत्र के अनुसार प्रदेशभर के संविदा स्वास्थ्य कर्मचारियों को नियमित करने की मांग ​की है। उन्होंने स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव को पत्र लिखकर हड़ताल पर बैठे स्वास्थ्यकर्मियों की इस मांग को जायज ठहराया है। बाफना ने कहा कि विधानसभा चुनाव 2018 के दौरान आपके ही नेतृत्व में चुनावी जनघोषणा पत्र के माध्यम से प्रदेशभर के सभी अनियमित कर्मचारियों को नियमित करने का वादा किया था। यह बात मुझे इस पत्र के माध्यम से इसलिए याद दिलानी पड़ रही है कि, अब जबकि राज्य में कांग्रेस की सरकार बने हुए लगभग 2 वर्ष पूर्ण होने को है और अब तक इस संबंध में आपकी सरकार ने अनियमित कर्मचारियों के लिए नियमितीकरण की कोई प्रक्रिया प्रारंभ नहीं की। गौरतलब है कि, नियमितीकरण की अपनी जायज मांग को लेकर पूरे प्रदेश में सभी एनएचएम संविदा स्वास्थ्य कर्मी हड़ताल पर चले गए हैं। उनकी स्पष्ट रूप से मांग है कि, स्थाई स्वास्थ्यकर्मियों की तरह समान कार्य के लिए उन्हें भी समान वेतन दिया जाए और उनकी सेवाएं भी स्थाई की जाए, जो कि निश्चित तौर पर शत प्रतिशत् जायज मांग है।

उन्होंने कहा कि सत्ता के सिंहासन तक कांग्रेस को पहुंचाने वाले कर्मचारियों की भूमिका को आपकी सरकार ने भूला दिया है। इसका स्पष्ट उदाहरण यह है कि, अपनी मांगों को लेकर हड़ताल पर गए एनएचएम कर्मचारियों से बात करना तो दूर की बात है, अब स्वास्थ्य विभाग अपने कर्मियों पर अनुशासनहीनता व सेवा शर्तों के उल्लंघन करने का आरोप लगाकर उनकी सेवाएं समाप्त कर रही है। जबकि सरकार को स्वास्थ्यकर्मियों को बुलकर उनसे चर्चा करनी चाहिए थी और इस कोरोना महामारी के दौर में बीच का कोई रास्ता निकाला जाना चाहिए था। लेकिन स्वास्थ्य विभाग ने तो कड़े तेवर दिखाकर एस्मा कानून का हवाला देते हुए उनका रोजगार छीनना ही प्रारंभ कर दिया है। पूर्व विधायक बाफना ने स्वास्थ्य मंत्री से आग्रह किया है कि अपने किए हुए वादे से पीछे न हटकर प्रदेशभर के सभी संविदा स्वास्थ्य कर्मचारियों को नियमित करने के साथ अन्य विभागों के संविदा कर्मचारियों को भी नियमित करने की कार्यवाही पर पहल करने का कष्ट करें। स्वास्थ्य कर्मियों की सेवाएं समाप्त करने संबंधी आदेश जारी हुए हैं। उन्हें तत्काल प्रभाव से निरस्त करते हुए पूरे सम्मान के साथ पुन: उनकी सेवा बहाली करने के आदेश भी जारी किये जाए। ताकि इस कोरोना महामारी के दौरान स्वास्थ्य व्यवस्था पुन: पटरी पर आ सके।

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.