GLIBS

भयावह कोरोना संकट में भी सरकार को झूठे दावे और प्रचार कर वाहवाही बटोरने की सूझी है : डॉ. रमन

रविशंकर शर्मा  | 15 Sep , 2020 10:22 PM
भयावह कोरोना संकट में भी सरकार को झूठे दावे और प्रचार कर वाहवाही बटोरने की सूझी है : डॉ. रमन

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि, प्रदेश सरकार कोरोना के खिलाफ जारी जंग विफल हो रही है। न तो संसाधन जुटाकर उपलब्ध करा पा रही है, न संक्रमण के फैलाव को रोक पा रही है, न अस्पतालों में कोई व्यवस्था कर पा रही है, न मरीजों को इलाज के लिए अस्पतालों में बिस्तर दिला पा रही है। प्रदेश सरकार के रवैए से संत्रस्त प्रदेश का हर वर्ग अब कोरोना काल में अपनी जान दांव पर लगाकर रोज हजारों की संख्या में सड़क पर आंदोलन करने उतर रहा है। इससे संक्रमण का खतरा और फैलाव प्रदेश स्तर पर होने की आशंका बलवती होती जा रही है। प्रदेश सरकार अब इन आंदोलनों को भी रोक नहीं पा रही है। डॉ. सिंह ने कहा है कि, प्रदेश ने देश और राजधानी ने देश के कई बड़े शहरों को कोरोना संक्रमण के फैलाव में पीछे छोड़ दिया है। ऐसी भयावह स्थिति में भी प्रदेश सरकार को झूठे दावे और  प्रचार करके वाहवाही बटोरने की सूझी पड़ी है। भाजपा की पूर्ववर्ती प्रदेश सरकार और केंद्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली भाजपानीत राजग सरकार अपने पहले कार्यकाल में स्वास्थ्य सुविधा देते हुए क्रमश: स्मार्ट कार्ड और आयुष्मान भारत योजना के तहत जरुरतमंद मरीजों को निशुल्क इलाज दे रही थी। प्रदेश सरकार ने 50 हजार रुपए तक और केंद्र सरकार ने 5 लाख रुपए तक के इलाज को निशुल्क कर दिया था।  सत्ता में आने के बाद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने राजनीतिक प्रतिशोध की ओछी मानसिकता का परिचय देकर इन दोनों ही योजनाओं को बंद कर दिया। यदि प्रदेश सरकार ने जनकल्याण की इन योजनाओं को जारी रखा होता,तो आज प्रदेश के लोगों को कोरोना समेत अन्य बीमारियों के इलाज में राहत मिलती।

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.