GLIBS

जन औषधि में मोदी सरकार की असफलता का ठीकरा प्रदेश सरकार के मत्थे मढ़ना चाह रहे डॉ. रमन : विकास तिवारी

राहुल चौबे  | 19 Jun , 2021 04:43 PM
जन औषधि में मोदी सरकार की असफलता का ठीकरा प्रदेश सरकार के मत्थे मढ़ना चाह रहे डॉ. रमन : विकास तिवारी

रायपुर। कांग्रेस प्रदेश प्रवक्ता एवं सचिव विकास तिवारी ने कहा कि राज्य सरकार का जन औषधि केंद्रों (जेएके) के माध्यम से सस्ती दवाओं के वितरण में बाधा डालने का पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह का आरोप हास्यास्पद है। उनका आरोप तथ्यों पर आधारित नहीं है। राज्य सरकार ने जन औषधि केंद्र चलाने के लिए राज्य सरकार के परिसर (जैसे मेडिकल कॉलेज, जिला अस्पताल, सीएचसी आदि) के भीतर 122 प्रमुख स्थानों में जगह, निर्मित क्षेत्र और संबंधित सुविधाएं मुफ्त उपलब्ध कराई हैं। कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने तथ्यहीन आरोप प्रदेश की भूपेश सरकार पर लगाएं हैं। सरकार सस्ती और मुफ्त दवा नहीं दे रही है, जबकि रमन राज में जहां तक जन औषधि योजना का सवाल है। राज्य सरकार ने इसके लिए राज्य के अस्पतालों में सबसे अच्छी जगह पर 122 दुकानों को स्थान दिया है। जन औषधि के लिए केंद्र सरकार की संस्था ब्यूरो ऑफ फार्म की ओर से प्रदाय की जानी है। लेकिन उन्होंने 600 दवाओं में से केवल 250 दवाएं ही प्रदाय की हैं। यह केंद्र सरकर की विफलता है।

 

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.