GLIBS

पत्रकारिता विश्वविद्यालय का नाम बदलने पर धरमलाल कौशिक ने सरकार को घेरा, कहा..

हर्षित शर्मा  | 26 Mar , 2020 08:19 PM
पत्रकारिता विश्वविद्यालय का नाम बदलने पर धरमलाल कौशिक ने सरकार को घेरा, कहा..

रायपुर। छत्तीसगढ़ सरकार की ओर से कुशाभाऊ ठाकरे पत्रकारिता एवं जनसंचार विश्वविद्यालय का नाम बदलकर चंदूलाल चन्द्राकर के नाम पर करने का फैसला किया है। सरकार के इस फैसले पर नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने निशाना साधा है। धरमलाल कौशिक ने कहा कि कुशाभाऊ ठाकरे पत्रकारिता विश्वविद्यालय का नाम परिवर्तित किया गया। पहले से स्थापित, इस देश के तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के हाथों उद्घाटित, कार्यरत संस्था के नाम में परिवर्तन किया जाना एक प्रकार से समाज में द्वेष फैलाना, वर्ग संघर्ष के लिए लोगों को प्रेरित करना है। कौशिक ने कहा कि जो व्यक्ति कभी विवाद में नहीं रहे हैं ऐसे चंदूलाल चन्द्राकर जी के नाम से नए संस्थान की स्थापना कर नाम रखा जाना था। लेकिन राजनीतिक द्वेष और स्वार्थ के चलते एक महापुरुष का नाम निकालकर दूसरे महापुरुष का नाम लाना समझ से परे है। यह जो शुरुआत हुई है इससे आने वाला समय बहुत अच्छा दिखाई नहीं दे रहा है। इसके पूर्व भी पंडित दीनदयाल उपाध्याय के जन्मदिनके अवसर पर कार्यरत संस्था का नाम परिवर्तित किया गया।

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.