GLIBS

दिन में शराबबंदी की मांग-रात में संरक्षण, भाजपा और उसकी बी टीम का दोहरा चरित्र उजागर : शैलेश

रविशंकर शर्मा  | 18 Jan , 2020 03:01 PM
दिन में शराबबंदी की मांग-रात में संरक्षण, भाजपा और उसकी बी टीम का दोहरा चरित्र उजागर : शैलेश

रायपुर। प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा कि भाजपा और उसकी बी टीम की मिलीभगत और दोहरा आचरण उजागर हुआ है। त्रिवेदी ने आरोप लगाया है कि नगरीय निकाय चुनाव के बाद भाजपा और भाजपा के सहयोगी दल जनता कांग्रेस पंचायती राज संस्थाओं के चुनाव में भी शराब का दुरुपयोग की साजिश कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा में सांसद प्रतिनिधि रहे और भाजपा का जिला कोषाध्यक्ष अनिल गुप्ता स्वयं की गाड़ी के साथ-साथ राज्य विद्युत मंडल की गाड़ियों में अवैध शराब परिवहन तस्करी करते हुए पकड़ा गया। इसे छुड़ाने के लिए बलौदा बाजार के जनता कांग्रेस के विधायक प्रमोद शर्मा स्वयं कवर्धा पहुंचे। भाजपा और भाजपा की बी टीम  जनता कांग्रेस लगातार राज्य में  शराबबंदी के लिए मांग करती रही लेकिन खुद इनके जिम्मेदार पदाधिकारी और जनप्रतिनिध  क्या कर रहे हैं बाहर के राज्य से शराब की तस्करी और शराब का संरक्षण दे रहे हैं।

शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा कि 2018 के चुनाव में कांग्रेस को  राज्य की जनता ने जनादेश दिया था।  यह जनादेश 5 वर्षों के लिए है। कर्जमाफी, 2500 धान का दाम, 4000 तेंदूपत्ता , छोटे प्लाटों की रजिस्ट्री सहित अनेक वादों को कांग्रेस सरकार ने पूरा भी किया है। छत्तीसगढ़ में विधानसभा  चुनाव में कांग्रेस ने शराबबंदी का वादा भी किया था। त्रिवेदी ने कहा कि शराबबंदी सहित घोषणापत्र में किए गए  वादों को  पूरा करने की दिशा में राज्य सरकार गंभीर और लगातार काम भी कर रही है। समीतियां गठित की गई है,शराब की समस्या का मूल समाधान सामाजिक स्तर पर ही संभव है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सरकार ने इस दिशा में दु़ढ़ इच्छाशक्ति के साथ कदम भी उठाए हैं। सरकार ऐसी शराब नीति बनाने के लिए काम कर रही है। ताकि शराबबंदी होने की स्थिति में अवैध शराब और शराब तस्करी जैसी समस्याओं से निपटा जा सके। शराब बंदी हो भी जाये तो शराबतस्करी रोकनी होगी। सरकार ने इस दिशा में कदम उठाए।

त्रिवेदी ने कहा कि पूर्व में रमन सिंह के साथ कवर्धा के शराब कोचिए की फोटो भी उजागर हुई थी। इन दोनों राजनैतिक दलों का चरित्र यही है। भाजपा और भाजपा की बीम टीम की ओर से नगरीय निकाय चुनाव को प्रभावित करने के लिए और अब पंचायती राज संस्थाओं के चुनाव को प्रभावित करने के लिए बड़े पैमाने पर शराब की तस्करी करके अवैध परिवहन कर के बाहर से शराब लाई गई है और यह शराब बलौदा बाजार जिले में कांग्रेस के उम्मीदवारों को हराने के लिए बांटी जा रही हैं। शराब तस्करी की इस बड़ी घटना से भाजपा और जनता कांग्रेस का दोहरा चरित्र उजागर हो गया है। भाजपा के बलौदा बाजार जिला कोषाध्यक्ष स्वयं की गाड़ी में और छत्तीसगढ़ राज्य विद्युत मंडल लिखी गाड़ियों में मध्य प्रदेश से शराब तस्करी करते हुए हुए गिरफ्तार किए गए। जनता कांग्रेस के विधायक जमानत कराने पहुंचे थे। यह भाजपा और भाजपा की बी टीम द्वारा पंचायत चुनाव को प्रभावित करने के लिए अवैध शराब की तस्करी और शराब तस्करों को संरक्षण देने का स्पष्ट मामला है। यह दोनों ही राजनैतिक दल भाजपा और भाजपा की बी टीम लगातार शराबबंदी की मांग को लेकर बात करते रहे हैं और भाजपा और भाजपा की टीम इन्हीं के पदाधिकारियों और जनप्रतिनिधियों का आचरण प्रदेश की जनता के सामने उजागर हुआ है। भाजपा और भाजपा की बी टीम का शराबबंदी के समर्थक होने का मुखौटा पूरी तरह से हट गया है।

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.