GLIBS

राज्यपाल को बताने से पहले मुख्यमंत्री स्वयं अपनी संवैधानिक सीमाएं तय करें : धरमलाल कौशिक

रविशंकर शर्मा  | 18 Oct , 2020 08:50 PM
राज्यपाल को बताने से पहले मुख्यमंत्री स्वयं अपनी संवैधानिक सीमाएं तय करें : धरमलाल कौशिक

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता धरमलाल कौशिक ने कहा है कि सत्ता में आने के बाद से लगातार संवैधानिक मर्यादा व गरिमा का उल्लंघन करने वाले प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल राजभवन से टकराव के रास्ते पर चल रहे हैं। राज्यपाल को संवैधानिक मर्यादा और सीमाएं बताने की हास्यास्पद नौटंकी कर रहे हैं। कौशिक ने गैरभाजपा शासित राज्यों में राज्यपाल के हस्तक्षेप को लेकर मुख्यमंत्री बघेल के बयान पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा है कि पहले मुख्यमंत्री स्वयं अपनी संवैधानिक सीमाएं तय करें। नेता प्रतिपक्ष ने सवाल किया है कि कुलपति चयन का अधिकार राज्यपाल से छीनकर प्रदेश सरकार ने कौन-सी संवैधानिक मर्यादा का पालन किया? सत्ता में आने के बाद से ही प्रदेश सरकार हर कदम पर बदलापुर की राजनीति पर आमादा है। संवैधानिक संस्थाओं और मर्यादाओं की अवहेलना करके अपने सत्तावादी अहंकार का शर्मनाक प्रदर्शन कर रही है। मुख्यमंत्री बघेल संवैधानिक संकट खड़ा करने और फिर उसे लेकर प्रलाप की राजनीति करने की मानसिकता से ग्रस्त हैं। मुख्यमंत्री बघेल राज्यपाल को सीमा न बताए क्योंकि इस प्रदेश सरकार ने राज्यपाल के अधिकारों को कम करने की कोशिश की है। संवैधानिक संस्थाओं की परंपरा को तोड़ने पर वह उतारू है।

नेता प्रतिपक्ष ने जोगी परिवार से जुड़े जाति-विवाद के मामले में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के बयान को उनके राजनीतिक अपराध-बोध का परिचायक बताया है। उन्होंने कहा है कि जाति-विवाद को लेकर भाजपा व पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह पर टिप्पणी करके मुख्यमंत्री बघेल कांग्रेस के अलोकतांत्रिक आचरण व राजनीतिक दुराग्रह पर पर्दा नहीं डाल सकेंगे। मुख्यमंत्री बघेल जोगी परिवार के जाति-विवाद के मामले में पहले कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और राहुल गांधी से प्रदेश की जनता से माफी मंगवाएं, जिन्होंने प्रदेश की जनता से झूठ बोलकर जोगी परिवार को आदिवासी बताया और स्व.अजीत जोगी को मुख्यमंत्री बनाया था। आदिवासी के नाते जोगी पिता-पुत्र विधानसभा में कांग्रेस विधायक के तौर पर पहुंचते रहे। जोगी परिवार की जाति के मामले में कांग्रेस दोहरे मापदंड का प्रदर्शन कर रही है।

 

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.