GLIBS

मुख्यमंत्री और गृहमंत्री सच्चे झूठे का स्पष्टीकरण दें और झूठ बोल कर जनता को धोखा देने वाले दें इस्तीफा: विष्णुदेव

राहुल चौबे  | 22 Nov , 2020 08:40 PM
मुख्यमंत्री और गृहमंत्री सच्चे झूठे का स्पष्टीकरण दें और झूठ बोल कर जनता को धोखा देने वाले दें इस्तीफा: विष्णुदेव

रायपुर। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू के बयान पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को सावधान रहने कहा हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री बघेल से पूछा कि एक तरफ आप बेरोजगारी के आंकड़े पेश करते हैं, अपनी पीठ स्वयं थपथपाते हैं वहीं आपके सरकार में गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू बेरोजगारी बढ़ने का हवाला देते हुए प्रदेश में अपराध बढ़ने की बात कहते हैं। बेरोजगारी पर आंकड़े जारी कर मुख्यमंत्री अपनी पीठ थपथपाते हैं और गृहमंत्री बेरोजगारी को अपराध बढ़ने का कारण बताते हैं, यह कैसा विरोधाभास, कौन सच्चा, कौन झूठा? भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने कहा कि मुख्यमंत्री और गृहमंत्री को आपस में तय कर प्रदेश की जनता को बताना चाहिए कि कौन सच कह रहा हैं और कौन झूठ बोल रहा हैं। उन्होंने कहा कि सरकार के दो महत्वपूर्ण व्यक्तियों के बयान में इतना बड़ा विरोधाभास जनता के बीच अविश्वास को जन्म देता हैं यह पूर्ण बहुमत और 70 विधायकों का दम्भ भरने वाली काँग्रेस सरकार के लिए आत्म चिंतन का विषय हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से आग्रह किया कि प्रदेश की जनता जानना चाहती हैं आप दोनों में कौन सच्चा हैं और कौन झूठ आपको सामने आकर बताना चाहिए।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने कहा कि सरकार में महत्वपूर्ण दायित्वों का निर्वहन कर रहे विधायकों से लेकर मंत्रियों तक और मुख्यमंत्री के बीच इस प्रकार के विरोधाभास का यह कोई पहला मामला नहीं हैं। इससे पूर्व स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव और मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के बीच की तल्खियां जनता के सामने आ चुकी हैं। कुछ दिन पूर्व बिलासपुर के विधायक शैलेश पांडेय ने गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू की मौजूदगी में पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े करते हुए रेट लिस्ट जारी करने की बात करते हुए विरोध प्रकट किया था। उन्होंने सरकार में बैठे महत्वपूर्ण जिम्मेदारों के बीच विरोधाभास के सामने आने को प्रदेश की जनता के हित के विरुद्ध बताते हुए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से जनता को स्पष्टीकरण देने कहा हैं।विष्णुदेव साय ने प्रदेश सरकार को आपसी विरोधाभास वाली सरकार की संज्ञा देते हुए कहा कि आपस में ही एक दूसरे के विरोध से घिरी प्रदेश सरकार और कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं के दबाव और विरोध की ज्वालामुखी से घिर चुके मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व वाली सरकार बिगड़ती कानून व्यवस्था और बढ़ते अपराध पर नियंत्रण कर पाने में पूर्ण रूप से विफल हो चुकी हैं।

उन्होंने कहा कि आपसी विरोधाभास के बोझ से दबी प्रदेश सरकार को समझ नहीं आ रहा हैं कि अपनी नाकामी छुपाने कब कोरोना का बहाना बनाना हैं और कब नहीं। बीते 23 महीनों से लगातार कानून व्यवस्था बिगड़ रही हैं। हत्या, लूट, अपहरण,फिरौती,शराब तस्करी,ड्रग्स के बढ़ते मामले,चोरी, छेड़छाड़,बलात्कार और सामूहिक बलात्कार जैसी घटना लगातार बढ़ रही हैं। छत्तीसगढ़ को इस विरोधाभास से घिरी सरकार ने अपराध का गढ़ बना दिया हैं।विष्णुदेव साय ने प्रदेश की बिगड़ती कानून व्यवस्था, बढ़ते अपराध और रोजगार के नाम पर झूठे आंकड़े पेश करने वाले मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू से सच्चे झूठे का स्पष्टीकरण देने और झूठ बोल कर जनता को धोखा देने वाले से इस्तीफा मांगा हैं। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ में झूठ बोल कर जनता को ठगने वालों के लिए कोई स्थान नहीं इसलिए काँग्रेस के नेता आपसे में सच झूठ का फैसला कर जनता से माफी मांगे और इस्तीफा दें।

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.