GLIBS

भूपेश बघेल ने सेवा रथ का किया वर्चुअल लोकार्पण,राजनांदगांव जिले को मिली 4 एम्बुलेंस

रविशंकर शर्मा  | 20 May , 2021 07:53 PM
भूपेश बघेल ने सेवा रथ का किया वर्चुअल लोकार्पण,राजनांदगांव जिले को मिली 4 एम्बुलेंस

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने राजनांदगांव जिले में कोविड संक्रमण से प्रभावित मरीजों को तत्काल चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने के लिए 4 सेवा रथ एम्बुलेंस का गुरुवार शाम लोकार्पण किया। मुख्यमंत्री की ओर से रायपुर स्थित अपने निवास कार्यालय से वर्चुअल लोकार्पण के बाद राजनांदगांव में छत्तीसगढ़ अनुसूचित जाति विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष भुनेश्वर बघेल ने हरी झंडी दिखाकर एम्बुलेंस को रवाना किया। छत्तीसगढ़ अनुसूचित जाति विकास प्राधिकरण की ओर से  ये एम्बुलेंस राजनांदगांव जिले में स्वास्थ्य सुविधाओं के विस्तार के लिए प्रदान की गई हैं। मुख्यमंत्री ने अपने उद्बोधन में कहा कि कोरोना की दूसरी लहर के दौरान पूरे छत्तीसगढ़ के साथ-साथ राजनांदगांव जिले के लोगों ने भी बहुत कठिनाईयों का सामना किया है। सभी के सहयोग से इस संक्रमण को नियंत्रित करने में काफी हद तक सफलता मिली है। बहुत संतोष की बात है कि छत्तीसगढ़ में संक्रमण दर अब सिर्फ 8 प्रतिशत रह गई है। राजनांदगांव जिले में तो यह केवल 3 प्रतिशत के आसपास आ गई है। पूरे प्रदेश में नए मरीजों की संख्या घट रही है और रिकव्हरी रेट में लगातार सुधार हो रहा है। यह बड़ी खुशी की बात है कि राजनांदगांव जिले में रिकव्हरी रेट 94 प्रतिशत के आसपास पहुंच चुका है। इसी प्रकार छत्तीसगढ़ प्रदेश में रिकवरी रेट अब 89 से 90 प्रतिशत हो गयी है। ये सभी के सामूहिक प्रयासों से ही संभव हो पाया है। हम लोगों ने बहुत कुछ  गंवाने के बाद ये मुकाम हासिल किया है। कोरोना के कारण बहुत से लोग हम से हमेशा के लिए बिछड़ गए। कोरोना वायरस कितना खतरनाक हो सकता है इस बात का अहसास इस दूसरी लहर ने हमें अच्छी तरह से करा दिया है। 


मुख्यमंत्री बघेल ने कोरोना की दूसरी लहर के दौरान सभी सामाजिक एवं अन्य संगठनों की ओर से हर स्तर पर दिए गए सहयोग की सराहना की। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ में इस लड़ाई को लड़ने में  सभी वर्गों के लोगों और सामाजिक संगठनों ने सक्रिय योगदान दिया। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना का संकट अभी टला नहीं है। संसाधनों के विकास के साथ-साथ यह भी जरूरी है कि हम कोरोना काल के सामाजिक नियमों का पालन करें। सोशल डिस्टेंसिंग अपनाएं। समय-समय पर हाथ धोते रहे। सामाजिक कार्यक्रमों में भीड़भाड़ से बचें। खुद भी जागरूक रहें, दूसरों को भी जागरूक करें। जब आपकी पारी आए, तो टीकाकरण जरूर कराएं। कोरोना से बचने का सबसे अच्छा तरीका टीकाकरण और मास्क ही है। हम लोगों को यह भरोसा है कि शहरी क्षेत्रों की तरह ग्रामीण क्षेत्रों में भी हम कोरोना को जल्दी से जल्दी परास्त करेंगे।  मुख्यमंत्री ने कहा कि मरीजों को शीघ्रता के साथ उपचार मिले और गंभीर मरीजों को तत्परता के साथ अस्पताल पहुंचाया जा सके, इसके इंतजाम किए जा रहे हैं। राजनांदगांव में चार मेडिकल एम्बुलेंस का लोकार्पण हो रहा है। इनकी व्यवस्था अनुसूचित जाति विकास प्राधिकरण मद से की गई है। ये एम्बुलेंस सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र घुमका, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र डोंगरगढ़, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र मुढ़ीपार, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र मरकाम टोला को उपलब्ध करायी जा रही है। इन एम्बुलेंसों के जरिए इन क्षेत्रों की स्वास्थ्य अधोसंरचना को और मजबूती मिलेगी। 
मुख्यमंत्री निवास में मुख्यमंत्री के सलाहकार विनोद वर्मा, राजनांदगांव के कार्यक्रम स्थल पर छत्तीसगढ़ अनुसूचित जाति विकास प्राधिकरण अध्यक्ष भुनेश्वर बघेल, अंत्यावसायी वित्त एवं विकास निगम छत्तीसगढ़ के अध्यक्ष धनेश पाटिला, नगर पालिक निगम राजनांदगांव की महापौर हेमा देशमुख, राजनांदगांव कलेक्टर टोपेश्वर वर्मा, पदमकोठारी और अन्य जनप्रतिनिधि एवं सामान्यजन उपस्थित थे।

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.