GLIBS

पूर्व मुख्यमंत्री सहित भाजपाई भूपेश फोबिया से ग्रसित : घनश्याम तिवारी

हर्षित शर्मा  | 08 Jul , 2020 07:25 PM
पूर्व मुख्यमंत्री सहित भाजपाई भूपेश फोबिया से ग्रसित : घनश्याम तिवारी

रायपुर। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता घनश्याम राजू तिवारी ने पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह के ट्वीट पर प्रतिक्रिया व्यक्त की है। तिवारी ने कहा है कि 15 वर्षों के कुशासन से सत्ता गंवा चुकी भाजपा हार की वजह से खेमों में बंट चुकी है। पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह समेत भाजपाईयों को इन दिनों भूपेश फोबिया हो चला है। 15 वर्षों में प्रदेश के जल, जंगल, जमीन उद्योगपतियों के हाथों बेचने वाले छत्तीसगढ़ महतारी की सेवा करने की बात कर रहें है। भाजपा फर्जी चिटफंड कंपनियों के मददगार बनकर प्रदेश की जनता से करोड़ों रुपए लुट लिए और युवा बेरोजगार एजेंट को जेल भेज दिया। नान घोटाला में प्रदेश के लाखों गरीबों के हक का राशन चोरी कर गरीबों की थाली से अनाज छिना गया, रमन सिंह आज सत्ता हाथ से छीन जाने पर जनप्रेम का दिखावा कर रहे हैं। आदिवासियों के साथ किए गए अन्याय जमीनों को छीनकर बड़े उद्योग घराने को सौंपा गया। फर्जी नक्सली मुठभेड़ बताकर सैकड़ों ग्रामीण आदिवासियों की हत्या की गई। आदिवासी छात्रावास में नाबालिगों से अनाचार होता रहा, यह सब प्रदेश की जनता ने देखा है, उस भयावह दर्द को आदिवासियों ने महसूस किया है। रमन सिंह क्या यह थी, छत्तीसगढ़ महतारी की सेवा.? भूपेश सरकार की श्रेष्ठता राष्ट्रव्यापी प्रदर्शित हो चुकी है, किसानों के धान का 2500 रुपए प्रति क्विंटल खरीदने वाला देश का एक मात्र राज्य है, मनरेगा में सर्वाधिक दिन रोजगार या लघु वनोपज संग्रहण पर प्रथम स्थान।  भूपेश सरकार ने रमन सरकार में छीने गए आदिवासियों की जमीन को वापस लौटाया है। किसानों से किए गए वादों पर धान 2500 रुपए के दाम लिए जा रहे हैं। तेंदूपत्ता की कीमत 2500 रुपए से बढ़ाकर 4 हजार कर दिया गया है । घरेलू उत्पाद बिजली बिल पर 50 प्रतिशत की छूट दी जा रही है। प्रदेश में किसान  सुखी और आर्थिक रूप से मजबूत हो रहा है, ग्रामीण अर्थव्यवस्था की मजबूती के लिए ऐतिहासक फैसले लिए जा रहे हैं, ऐसे अनेक उदाहरण हैं।

 

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.