GLIBS

विधानसभा मानसून सत्र: निजी स्कूलों में फीस और अंडा वितरण को लेकर हुआ हंगामा

ग्लिब्स टीम  | 18 Jul , 2019 03:43 PM
विधानसभा मानसून सत्र: निजी स्कूलों में फीस और अंडा वितरण को लेकर हुआ हंगामा

रायपुर। एक दिन स्थगित रहने के बाद गुरुवार को विधानसभा की कार्रवाई शुरू हुई। मानसून सत्र के चौथे दिन बेलतरा विधायक रजनीश कुमार सिंह ने निजी स्कूलों में बढ़ती फीस का मामला उठाया। उन्होंने पूछा कि कितने निजी स्कूल संचालित है? कितने निजी स्कूल मान्यता प्राप्त? निजी स्कूलों में शुल्क निर्धारण के क्या नियम? जवाब में स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह ने सदन में बताया कि कुल 690 मान्यता प्राप्त निजी स्कूल संचालित है। बिना मान्यता के एक भी नहीं है। आरटीई के तहत कक्षा 1 से 8वीं तक के लिए शुल्क का प्रावधान है, उसी के तहत निर्धारण हो रहा है। 9वीं से 12वीं तक के लिए निर्धारण का कोई प्रावधान नहीं।
नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने स्कूल शिक्षा मंत्री से पूछा कि फीस नियामक आयोग का गठन कब तक होगा? प्रेमसाय सिंह ने नियमों का हवाला देते हुए इसे प्रक्रियाधीन बताया। जवाब से असंतुष्ट विपक्ष ने सदन में हंगामा किया। गुरुवार को मिड मिल में अंडा दिए जाने का मामला फिर उठाया और सदन में जमकर हंगामा हुआ। 
शून्यकाल में भाजपा विधायकों ने इस विषय को उठाते हुए चर्चा की मांग की। विपक्ष के विधायक जब अपनी बातें रख रहे थे तब सत्तापक्ष के सदस्यों के द्वारा लगातार शोर किया जाता रहा। विपक्षी सदस्यों ने सभापति से सत्तापक्ष के विधायकों को शांत कराने की मांग की पर विधायक नहीं माने। अंतत: भाजपा विधायकों ने सदन से बायकॉट कर दिया और सदन को दस मिनट के लिए स्थगित कर दिया गया।

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.