GLIBS

विधानसभा बजट सत्र : छत्तीसगढ़ राज्य का आर्थिक सर्वेक्षण वर्ष 2020-21 सदन में पेश 

रविशंकर शर्मा  | 26 Feb , 2021 01:37 PM
विधानसभा बजट सत्र : छत्तीसगढ़ राज्य का आर्थिक सर्वेक्षण वर्ष 2020-21 सदन में पेश 

रायपुर। विधानसभा बजट सत्र के पांचवे दिन शुक्रवार को छत्तीसगढ़ राज्य का आर्थिक सर्वेक्षण वर्ष 2020-21 पटल पर प्रस्तुत किया गया। मंत्री अमरजीत भगत ने सदन में रिपोर्ट पेश की। 

1. सकल राज्य घरेलू उत्पाद वर्ष 2020-21 में प्रगति की संभावनाएं : 

(स्थिर भावों पर वर्ष 2011-12)- अग्रिम अनुमान वर्ष 2020-21 में सकल राज्य घरेलू उत्पाद बाजार मूल्य पर गत वर्ष 2019-20 की तुलना में -1.77 प्रतिशत कमी अनुमानित है। इसमें कृषि एवं संबद्ध क्षेत्र (कृषि, पशुपालन, मत्स्य एवं वन) में 4.61 प्रतिशत वृद्धि, उद्योग क्षेत्र (निर्माण, विनिर्माण, खनन एवं उत्खनन, विद्युत, गैस तथा जल आपूर्ति सम्मिलित) -5.28 प्रतिशत कमी व सेवा क्षेत्र  में 0.75 प्रतिशत वृद्धि अनुमानित है। 

2. सकल राज्य घरेलू उत्पाद वर्ष 2020-21 में प्रगति की संभावनाएं प्रचलित भावों पर :

अग्रिम अनुमान वर्ष 2020-21 में सकल राज्य घरेलू उत्पाद (बाजार मूल्य)पर गत वर्ष 2019-20 के तीन लाख चवालिस हजार नौ सौ पचपन करोड़ से बढ़कर तीन लाख पचास हजार दो सौ सत्तर करोड़ होना संभावित है। जो कि  1.54 प्रतिशत की वृद्धि दर्शाता है। इसमें वर्ष 2019-20 में कृषि एवं संबद्ध क्षेत्र (कृषि, पशुपालन, मत्स्य एवं वन) में सड़सठ हजार पच्चीस करोड़ रुपए से बढ़कर वर्ष 2020-21 में तिहत्तर हजार नौ सौ चौरानबे करोड़ रुपए, इसी प्रकार उद्योग क्षेत्र (निर्माण, विनिर्माण, खनन एवं उत्खनन, विद्युत, गैस तथा जल आपूर्ति सम्मिलित) में एक लाख तैतीस हजार छ: सौ अस्सी करोड़ रुपए से घटकर एक लाख उनतीस हजार दो सौ ग्यारह करोड़ रुपए व सेवा क्षेत्र में एक लाख अठारह हजार नौ सौ सत्रह करोड़ रुपए से बढ़कर एक लाख बाइस हजार आठ सौ तिरानबे करोड़ रुपए होना संभावित है। जो कि गत वर्ष की तुलना में प्रतिशत वृद्धि/कमी क्रमश: 10.40, -3.34 व 3.34 आंकलित है।

3. वर्ष 2019-20 में सकल राज्य घरेलू उत्पाद के त्वरित अनुमान स्थिर भावों (आधार वर्ष 2011-12) पर :

राज्य के सकल घरेलू उत्पाद बाजार मूल्य त्वरित अनुमान के अनुसार गत वर्ष 2018-19 की तुलना में वर्ष 2019-20 में  5.12 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। इसमें कृषि एवं संबद्ध क्षेत्र (कृषि, पशुपालन, मत्स्य एवं वन) में 3.67 प्रतिशत, उद्योग क्षेत्र (निर्माण, विनिर्माण, खनन एवं उत्खनन, विद्युत, गैस तथा जल आपूर्ति सम्मिलित) में 3.43 प्रतिशत एवं सेवा क्षेत्र में 7.71 प्रतिशत वृद्धि हुई है।

4.  प्रति व्यक्ति आय (निवल राज्य घरेलू उत्पाद प्रचलित भावों पर)

प्रति व्यक्ति आय वर्ष 2019-20 के त्वरित अनुमान के अनुसार एक लाख पांच हजार नवासी रुपए से घटकर वर्ष 2020-21 में एक लाख चार हजार नौ सौ तिरालिस रुपए होना अनुमानित है, जो पिछले वर्ष की तुलना में -0.14 प्रतिशत कमी दर्शाता है।

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.