GLIBS

अमित जोगी ने लिखा प्रियंका गांधी को पत्र,याद दिलाया यूपी का नारा, प्रदेश में भी हस्तक्षेप की मांग 

रविशंकर शर्मा  | 22 Sep , 2020 11:22 PM
अमित जोगी ने लिखा प्रियंका गांधी को पत्र,याद दिलाया यूपी का नारा, प्रदेश में भी हस्तक्षेप की मांग 

रायपुर। जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के प्रदेश अध्यक्ष अमित जोगी ने अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा को पत्र लिखा है। अमित ने प्रदेश के हजारों संविदा स्वास्थ्यकर्मियों की सेवा समाप्ति और उनके विरुद्ध एफआईआर करने का आदेश वापस लेने और उन्हें तत्काल नियमित करने छत्तीसगढ़ सरकार को मार्गदर्शन देने की मांग की है। अमित ने कहा है कि प्रियंका गांधी ने नौकरी और नियमितिकरण की मांगों को लेकर भाजपा की उत्तर प्रदेश सरकार को आड़े हाथों ले रखा है। उनके नारे संविदा नहीं सम्मान चाहिए को याद दिलाते हुए अमित ने कहा है कि आपका नारे ने उत्तर प्रदेश के संविदा कर्मचारियों के दिलों में नई उमंग भर दी है। इसलिए मुझे पूरा विश्वास है कि आप छत्तीसगढ़ के भी लाखों संविदा कर्मचारियों की जायज नियमितिकरण की मांग से पूरी तरह सहमत होंगी। आपकी पार्टी ने खुद उन्हें उसकी सरकार के दस दिन के भीतर नियमित करने का वादा किया था, लेकिन आपकी पार्टी इंडीयन नेशनल कांग्रेस की छत्तीसगढ़ सरकार स्वयं इन मांगों को लेकर न केवल अपनी चुनावी घोषणाओं से मुकर रही है, बल्कि इन मांगों को उठाने वालों को कुचलने में भी कोई कसर नहीं छोड़ रही है।

अमित जोगी ने कहा है कि राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के हजारों संविदा स्वास्थ्यकर्मियों की सेवा समाप्त और उनके विरुद्ध एफआईआर करने का आदेश छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार के तानाशाही रवैये को दर्शाता है। ये कहने में अतिशयोक्ति नहीं होगी कि हिट्लरशाही में छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सरकार को कोसों मील पीछे छोड़ दिया है। अमित जोगी ने कहा है कि छत्तीसगढ़ में कोरोना की लड़ाई में राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के हजारों संविदा स्वास्थ्यकर्मियों विषम परिस्थितियों में भी निस्वार्थ भावना से अग्रिम पंथी में रहकर काम कर रहे थे। 18 महीनों से वे सरकार से लगातार अपने नियमितिकरण की गुहार लगा रहे थे लेकिन सरकार के कान में जूं तक नहीं रेंगी। ऐसे में हड़ताल करने के अलावा उनके पास और कोई रास्ता भी नहीं बचा था। प्रियंका गांधी को लिखे पत्र में यह भी कहा है कि छत्तीसगढ़ सरकार को आपके संघर्ष का अनुसरण करते हुए संवेदनशील होकर अपना वादा पूरा करना चाहिए था, लेकिन ऐसा न करके उसने न केवल संविदा स्वास्थ्यकर्मियों के साथ बल्कि प्रदेश की जनता के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ किया है। अमित ने प्रियंका गांधी से हाथ जोड़कर विनती की है कि वे स्वयं इस मामले में हस्तक्षेप करते हुए छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार को प्रदेश के हजारों संविदा स्वास्थ्यकर्मियों की सेवा समाप्ति और उनके विरुद्ध एफआईआर करने का आदेश वापस लेने और उन्हें तत्काल नियमित करने का मार्गदर्शन देनी की असीम कृपा करेंगी।

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.