GLIBS

अमेरिका और चीन के बीच  'ट्रेड वॉर' से शेयर बाजार धड़ाम

ग्लिब्स टीम  | 08 May , 2019 05:56 PM
अमेरिका और चीन के बीच  'ट्रेड वॉर' से शेयर बाजार धड़ाम

मुंबई। अमेरिका और चीन के बीच जारी 'ट्रेड वॉर' से दुनियाभर के निवेशकों में घबराहट है। इसका असर घरेलू शेयर बाजार पर भी दिख रहा है। घरेलू शेयर बाजार में जारी गिरावट थमने का नाम नहीं ले रही है। दुनियाभर के बाजारों में जारी गिरावट के चलते बीएसई का प्रमुख बेंचमार्क इंडेक्स सेंसेक्स लगातार छठे दिन गिरावट के साथ बंद हुआ है। व्यापार विशेषज्ञों के अनुसार बुधवार के सत्र में एशियाई बाजार के बाद यूरोपीय बाजारों में भी बिकावाली का दौर जारी है। बता दें कि बीएसई का 30 शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 487अंक की कमजोरी के साथ 37789 पर बंद हुआ है। वहीं एनएसई का 50 शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स निफ्टी करीब 138 अंक लुढ़ककर 11359 पर बंद हुआ है। मई महीने की शुरुआत बेहद निराशाजनक रही है। इस दौरान बीएसई पर लिस्टेड कंपनियों के शेयरों की वैल्यूएशन 1,52,09,721.43 करोड़ से गिरकर 1,47,43,074.21 करोड़ रुपए पर आ गई है। ऐसे में निवेशकों को कुल 4.66 लाख करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है। वहीं, निफ्टी 6 हफ्ते के निचले स्तर पर पहुंच गया है। बीएसई का मिडकैप इंडेक्स करीब 1 फीसदी टूटकर 14,383.19 के स्तर पर बंद हुआ है। वहीं स्मॉलकैप इंडेक्स 1.21 फीसदी कमजोरी के साथ 14,129.34 के स्तर पर बंद हुआ है। तेल-गैस शेयरों में भी आज दबाव रहा। बीएसई का तेल-गैस इंडेक्स आज 1.36 फीसदी टूटकर बंद हुआ है। निफ्टी का पीएसयू बैंक इंडेक्स 1.4 फीसदी और प्राइवेट बैंक इंडेक्स 0.93 फीसदी की कमजोरी के साथ बंद हुए हैं। बैंक शेयरों में बिकवाली के चलते बैंक निफ्टी 1 फीसदी टूटकर 28,994.40 के स्तर पर बंद हुआ है। सेंसेक्स आज 480 अंक से ज्यादा फिसला है।  दुनिया के बड़े निवेशक वॉरेन बफे का कहना है कि अगर अमेरिका की चीन पर 25 फीसदी टैरिफ लगाने की धमकी सच साबित हुई तो ये पूरी दुनिया के लिए खराब होगा। ट्रेड वॉर का मसला सुलझने में ही सबकी भलाई है। ट्रेड वॉर पूरी दुनिया के लिए बुरा होगा। टैरिफ पर तोल-मोल खतरनाक है। चीन की तरक्की पूरी दुनिया के लिए अच्छी है। दोनों देशों की फिक्र जायज है। उम्मीद है कि अमेरिका चीन ट्रेड का मुद्दा सुलझा लेंगे। 

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.