GLIBS

Lal Sivam Bhosale : इंदौर की बेटी के लाल शिवम भोंसले ने किया कमाल

किशन लाल  | 06 Dec , 2018 03:55 PM
Lal Sivam Bhosale : इंदौर की बेटी के लाल शिवम भोंसले ने किया कमाल

इंदौर। स्थानीय स्नेहलता गंज निवासी दिघे परिवार की बेटी अरुणा के बेटे शिवम भोंसले ने छत्तीसगढ़ में इंजीनियरिंग विषय में इस साल का सर्वाधिक पैकेज हासिल कर अपने परिवार का नाम रोशन किया है। शिवम ने इस साल  राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान रायपुर में केमिकल इंजीनियरिंग पास किया और कैम्पस प्लेसमेंट में उसे भारत सरकार की कम्पनी भारत पेट्रोलियम लिमिटेड कोच्चि रिफायनरी में जॉब मिला। एनआईटी रायपुर का यह इस साल का सभी डिपार्टमेंट में उच्चतम पैकेज वाला प्लेसमेंट रहा। इस साल केमिकल इंजीनियरिंग के 6 छात्रों शिवम भोंसले, अम्बाडी अरविंद, कोमल देवांगन, इमरान खान, शुभी सक्सेना और नैनिका पनकर वे 6 छात्र है जिन्होंने एनआईटी रायपुर के सभी डिपार्टमेंट में हाइएस्ट पैकेज हासिल किया।

सिमगा का रोल मॉडल है शिवम 

सिमगा का छात्र शिवम भोंसले अंचल के छात्रों के लिए रोल मॉडल साबित हुआ है। छात्रों के बीच सिमगा सहित पूरे छत्तीसगढ़ में शिवम की ही चर्चा है। भारत सरकार की महारत्न कम्पनी भारत पेट्रोलियम की कोच्चि रिफायनरी से शिवम को मिला 17.35 लाख प्रतिवर्ष का पैकेज एनआईटी रायपुर सहित प्रदेश के सभी इंजीनियरिंग कॉलेजों में सन 2018 का सर्वाधिक बड़ा पैकेज रहा।  सिमगा जैसे छोटे से कस्बे में रहते हुए शिवम ने 5 वीं तक की पढ़ाई छत्तीसगढ़ बोर्ड से स्थानीय शक्ति कान्वेंट में पूरी की। उसके बाद 6 वी से 10 तक की पढ़ाई आईसीएसई बोर्ड में कार्मल पब्लिक स्कूल तिल्दा में पूरी की। 11वीं और 12वीं की पढ़ाई सीबीएसई बोर्ड में आदित्य बिड़ला पब्लिक स्कूल रवान में पूरी की। खास बात यह कि 15 किलोमीटर तिल्दा और लगभग 50 किलोमीटर ग्रासिम स्कूल की पढ़ाई शिवम ने रोज सिमगा से आना-जाना करके पूरी की। बिना किसी कोचिंग के शिवम ने जेईई परीक्षा के जरिये एनआईटी रायपुर में केमिकल ब्रांच हासिल की और अपनी लगन मेहनत और लक्ष्य के बल पर भारत पेट्रोलियम लिमिटेड में इतना बड़ा पैकेज हासिल किया। 

परिवार में खुशी का माहौल

शिवम की सफलता से उनके परिवार में खुशी का माहौल है। शिवम के पिता रणजीत भोंसल पत्रकार व अधिवक्ता हंै। मां अरुणा भोंसले का नगर में बेकरी व्यवसाय है। दोनों ने अपने बेटे की सफलता का श्रेय अपने नाथपंथी गुरु महाराज और शिवम के शिक्षकों को दिया जिन्होंने समय समय पर शिवम को यथायोग्य मार्गदर्शन प्रदान किया। बता दें कि बचपन से अध्यात्म के प्रति लगाव रखने वाले शिवम को पलसीकर कालोनी इंदौर के संत अण्णा महाराज से दीक्षा मिली हुई है।