GLIBS

एमपी में बाढ़ का कहर, 32 की मौत, राहत शिविर में भेजे गए 150 लोग

ग्लिब्स टीम  | 14 Aug , 2019 09:23 PM
एमपी में बाढ़ का कहर, 32 की मौत, राहत शिविर में भेजे गए 150 लोग

भोपाल। लगातार बारिश से मध्यप्रदेश के कई इलाकों का संपर्क टूट गया है, फसलों को नुकसान पहुंचा है। सरकार के मुताबिक अभी तक बारिश और बाढ़ से 32 लोगों की मौत हो चुकी है। मंदसौर के हैदरवास गांव में बाढ़ से प्रभावित डेढ़ सौ लोगों को राहत शिविर में पहुंचाया गया है। बाढ़ में 4 लोगों के बहने की खबर है, जिसमें एक शख्स के मौत की पुष्टि हो गई है । 3 लोगों की तलाश जारी है। इलाके में प्रशासन ने 3 राहत शिविर बनाए हैं, जिसमें बाढ़ प्रभावितों को रखा गया है। प्रशासन के मुताबिक, लगभग 3000 लोगों को राहत शिविरों में रखा गया है और बाढ़ से हुए नुकसान का आंकलन किया जा रहा है। वहीं, धार जिले में नर्मदा भी उफान पर है। सरदार सरोवर के गेट बंद होने से एक बार फिर लोगों में खौफ  है। कल बाढ़ प्रभावितों ने गुस्से में आकर नेशनल हाइवे को जाम कर दिया था। 6 घंटे के प्रदर्शन और प्रशासन के मनाने के बाद आंदोलनकारियों ने जाम खोला।  इससे पहले खबर आई थी कि सरदार सरोवर बांध में बैक वाटर बढऩे से धार जिले के निसरपुर में बाढ़ का पानी घुसने लग गया था। जिसके कारण व्यापारी अपनी दुकानें खाली कर रहे थे। बैक वाटर का स्तर बढऩे से निसरपुर के पास बहने वाली उरी और बाघनी नदी का पानी निसरपुर में घुस रहा था, जिससे निसरपुर डूबने की स्थिति में पहुंच गया था।  इसी के चलते निसरपुर के व्यापारी अपनी दुकान खाली कर रहे थे तो वहीं कुछ स्थानीय लोग जब तक शासन की ओर से मिलने वाली प्रभावितों की सारी सुविधाएं नहीं मिल जाती तब तक खाली नहीं करने की बात कर रहे थे।

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.