GLIBS

नक्सल क्षेत्रों से आए परीक्षार्थी की बताई व्यथा, सरकार कर रही नक्सली बनने को मजबूर 

अखिलेश तिवारी  | 12 Jun , 2019 04:39 PM
नक्सल क्षेत्रों से आए परीक्षार्थी की बताई व्यथा, सरकार कर रही नक्सली बनने को मजबूर 

रायपुर। राजधानी रायपुर के इदगाहभाठा में करीब सौ युवाओं के दल ने बुधवार को दूसरे दिन भी धरना प्रदर्शन किया। पुलिस आरक्षक पद की भर्ती की सारी प्रक्रियाओं के बाद भी रिजल्ट जारी नहीं किए जाने के विरोध में युवाओं ने प्रदर्शन जारी रखा है। प्रदर्शनकारियों में सभी ने पुलिस आरक्षक भर्ती परीक्षा दी है। इन युवाओं ने सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुए जल्द परिणाम जारी करने की मांग की है। प्रदर्शनकारियों ने कहा कि शासन प्रशासन हमारी मांग पर ध्यान नहीं देगा तो पैदल मार्च निकालेंगे साथ ही जल सत्याग्रह भी करेंगे। जानकारी के अनुसार इस मामले को लेकर एसडीएम जल्द प्रदर्शनकारियों से मिलने के लिए जाएंगे।  

मजबूर किया जा रहा नक्सली बनने पर 

अबूझमाड़ से आए एक परीक्षार्थी ने अपनी व्यथा सुनाई। उन्होंने बताया कि हम पुलिस डिपार्टमेंट में जाने की सोचते है तो नक्सलियों के द्वारा प्रताड़ित किया जाता है। साथ ही हमारे घर को भी जला दिया जाता है। अगर सरकार जल्द रिजल्ट घोषित नहीं करती है तो नक्सली बनने के अलावा और कोई विकल्प नहीं होगा। बता दें कि छत्तीसगढ़ के बिलासपुर हाईकोर्ट के आदेश के बाद भी कांस्टेबल भर्ती परीक्षा परिणाम जारी नहीं किया गया है। इस पर याचिकाकर्ताओं ने फिर से कोर्ट की शरण भी ली है।  आक्रोशित परीक्षार्थियों ने बीते 10 जून को हाईकोर्ट पहुंच कर अधिवक्ता के माध्यम से अवमानना याचिका दायर करने की प्रक्रिया पूरी की। इसके बाद बुधवार को रायपुर में प्रदर्शन करने पहुंचें है।