GLIBS

जशपुर में तेन्दूपत्ता खरीदी का लक्ष्य अधूरा

जशपुर में तेन्दूपत्ता खरीदी का लक्ष्य अधूरा

पत्थलगांव। छत्तीसगढ़ में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा इस वर्ष तेन्दूपत्ता संग्रहण की दर में प्रति मानक बोरी में डेढ हजार रुपये की वृद्धि करने के बाद भी जशपुर वन मंडल में खरीदी का लक्ष्य पूरा नहीं हो पाया है। कुनकुरी से कांग्रेस विधायक यूडी मिंज ने वन मंडल के अधिकारियों पर गरीब परिवार के लोगों को लाभान्वित करने वाली इस कल्याणकारी योजना का क्रियान्वयन में लापरवाही बरतने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि राज्य लघु वनोपज संघ के निर्देश के बाद भी यहां तेन्दूपत्ता की समय पूर्व क्वालिटी सुधारे जाने में वन विभाग ने रूचि नहीं ली। इसी अव्यवस्था का खामियाजा सैकड़ों तेन्दूपत्ता संग्रहणकतार्ओं को भुगतना पड़ा है।

उन्होंने बताया कि तेन्दूपत्ता संग्रहण की दर 4000 रुपये कर देने के बाद भी गरीब तबका के लोगों को इस योजना के लाभ से वंचित रहना पड़ा है। जशपुर जिले में 39 हजार मानक बोरा तेन्दूपत्ता संग्रहण का लक्ष्य के विरूध्द यहां मात्र 27 हजार मानक बोरा की खरीदी की गई। उन्होंने कहा कि लक्ष्य से 30 प्रतिशत कम संग्रहण से सैकड़ों लोगों को अपनी आय से हाथ धोना पड़ा। उन्होंने बताया कि जिले में लघु वनोपज से बेरोजगार युवकों को रोजगार देने की अच्छी पहल हो सकती है। लेकिन जशपुर वन मंडल में अधिकारियों की इस लापरवाही से जरूरतमंदों को इसका लाभ नहीं मिल रहा है। इस पर मुख्यमंत्री को पत्र लिख कर उन्हें अवगत कराया है।

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.