GLIBS

20 अगस्त को जिला समन्वयकों, स्रोत शिक्षकों की राज्य स्तरीय प्रशिक्षण कार्यशाला

ग्लिब्स टीम  | 19 Aug , 2019 05:53 PM
20 अगस्त को जिला समन्वयकों, स्रोत शिक्षकों की राज्य स्तरीय प्रशिक्षण कार्यशाला

रायपुर। छत्तीसगढ़ विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी परिषद, रायपुर द्वारा राष्ट्रीय विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी संचार परिषद, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग, भारत सरकार से प्रायोजित राष्ट्रीय बाल विज्ञान कांग्रेस-2019 के अंतर्गत ”साइंस, टेक्नालाॅजी एवं इनोवेशन फाॅर ए क्लीन, ग्रीन एंड हेल्दी नेशन” विषय पर  जिला समन्वयकों एवं स्रोत शिक्षकों की एक दिवसीय राज्य स्तरीय प्रशिक्षण कार्यशाला का आयोजन 20 अगस्त को रसायन अध्ययन शाला के सभाकक्ष डाॅ. सीवी रमन हाॅल, पं. रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय, रायपुर में आयोजित किया जा रहा है। कार्यशाला का शुभारंभ मुख्य अतिथि पं. रविशंकर शुक्ल विवि के कुलपति प्रो. केएल. वर्मा एवं आर. प्रसन्ना(आईएएस) विशेष सचिव, विज्ञान एंव प्रौद्योगिकी विभाग, छत्तीसगढ़ शासन, महानिदेशक, छत्तीसगढ़ विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी परिषद रायपुर की अध्यक्षता में होगी। 

कार्यशाला का मुख्य उद्देश्य भारत सरकार द्वारा चयनित (मुख्य विषय स्वच्छ, हरित और स्वस्थ राष्ट्र, हेतु विज्ञान तकनीक और नवाचार) एंव उसके उपविषयों पर परियोजना निर्माण केलिए जिला समन्वयकों एंव स़्त्रोत शिक्षकों को रिसोर्स पर्सन के माध्यम से प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा। इसकेे साथ ही शिक्षकों को राष्ट्रीय बाल विज्ञान कांग्रेस की रूपरेखा परियोजना प्रस्तुतीकरण पद्धति, मूल्यांकन प्रक्रिया से भी अवगत किया जायेगा। ताकि जिला एंव राज्य स्तर पर प्रशिक्षित शिक्षकों द्वारा बाल वैज्ञानिकों को परियोजना निर्माण में सहयोग प्रदान कर सकें ताकि भविष्य में जिला तथा राज्य स्तर पर बाल विज्ञान कांग्रेस का सफल आयोजन किया जा सकें। कार्यशाला के तकनीकी सत्र में चिन्हित विभिन्न उपविषयों पर जैसेः इकोसिस्टम एण्ड इकोसिस्टम सर्विसेस, हेल्थ, हाईजिंन एण्ड सेनीटेशन,वेस्ट टू वेल्थ,सोसाइटी, कल्चर एडं लाईवलीहुडस् एवं ट्रेडिशनल नाॅलेज सिस्टम पर डाॅ.एमएल नायक, डाॅ.शम्स परवेज, डाॅ.वीके कानूंगों, पद्मश्री डाॅ. एटी दाबके,डाॅ.अरूणा पलटा, डाॅ.एसके जाधव, डाॅ.केके साहू, डाॅ. मिताश्री मित्रा, डाॅ. प्रीता लाल, डाॅ.एके गेड़ा एवं डाॅ. दिपेन्द्र सिंग द्वारा विभिन्न चिन्हित उपविषयों पर अपना व्याख्यान प्रस्तुत करेंगें।

 

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.