GLIBS

ऐसे बनाएं सेवंती के नए पौधे घर पर, डॉक्टर तिर्की ने दिए टिप्स

रविशंकर शर्मा  | 25 Aug , 2019 03:51 PM
ऐसे बनाएं सेवंती के नए पौधे घर पर, डॉक्टर तिर्की ने दिए टिप्स

रायपुर। घर को ऑक्सीजोन कैसे बनाएं और सेवंती के नए पौधे घर पर कैसे तैयार करें इस विषय पर वृंदावन हॉल सिविल लाइंस में रविवार को कार्यशाला हुई। कार्यशाला के मुख्य अतिथि प्रदीप टंडन अध्यक्ष, जिंदल स्टील एंड पावर लिमिटेड, वक्ता मनोज अम्बस्त सहायक संचालक उद्यान और डॉक्टर टी. तिर्की वैज्ञानिक, इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय थे। प्रश्नोत्तर समन्वयक डॉक्टर विजय जैन कृषि वैज्ञानिक, इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय थे। डॉ. टी.तिर्की वैज्ञानिक, इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय ने कार्यशाला में सेवंती के नए पौधे घर पर तैयार करने के टिप्स दिए। उन्होंने कहा कि आमतौर पर जब हम नर्सरी में जाते हैं तो जिन पौधों में फूल लगे देखते हैं वही पौधे खरीदते हैं। फूल प्रेमी अपने घर में भी पौधे बना सकते हैं और उसका आनंद ले सकते हैं। उन्होंने सेवंती का नया पौधा कार्यशाला में बना कर दिखाया। उन्होंने बताया कि पौधे दो विधि से बनते हैं, बीज और वानस्पतिक। इसमें यदि हम बीज से पौधा बनाते हैं तो आइसोलेशन मेंटेन नहीं हो पाने से बहुत दिक्कत होती है और वानस्पतिक विधि से जस के तस रहते हैं। सेवंती के पौधे से हम दिसंबर- जनवरी में अच्छा फूल पाएंगे लेकिन इसे अगले साल के लिए कैसे सहेजें ये जानना महत्वपूर्ण है।

उन्होंने बताया कि मुख्य प्लांट के ऊपर के भाग की लंबाई करीब 7 सेंटीमीटर लेकर काट लें।ये ध्यान देना होगा कि जहां 2 गांठ है उसके नीचे से काटना चाहिए क्योंकि दो गांठ जमीन के अंदर रहने से पौधे की जड़ अच्छी आएगी। ये भी ध्यान दिया जाए कि कटिंग किए पौधे की ऊपर की कुछ पत्तियों को छोड़कर बाकी पत्तियों को हटा दें जिससे नुकसान नहीं हो। इसमें फंजीसाइट का घोल बनाकर छिड़काव करना आवश्यक है या रूटेक्स पाउडर में कटिंग किए पौधे का निचला भाग टच करना आवश्यक है। यह करने से यदि मुख्य प्लांट में फंगल्स होंगे तो वह नए पौधे में नहीं लगेंगे। उन्होंने बताया कि अब इस कटिंग पौधे को सीधे लगाने से अच्छा पहले लकड़ी से छेद कर लें और इसे सीधा धूप में रखने से बचे। पॉट में दो भाग रेती एक भाग कोकोपिट मिलाकर पौधे लगाने से कोकोपिट से जड़ को पकड़कर रखने में मजबूती बनी रहेगी और नमी भी बनी रहेगी। इस तरह पौधा तैयार होता है। इस नए पौधे में 15 दिन में जड़ आती है और 1 माह के आसपास पत्तियां आती हैं। 

उन्होंने कहा कि आमतौर पर ये देखने में आता है कि हम पौधे तो बना लेते हैं लेकिन उसकी देखरेख बहुत आवश्यक है। इसके लिए अच्छा प्रीकॉसन लेना आवश्यक है। अच्छे से जड़ विकसित होने के बाद ही इसे गमले में शिफ्ट करना चाहिए। यह भी ध्यान देना चाहिए कि तुरंत धूप में ना रखा जाए, पहले छाया में रखना चाहिए। ध्यान रहे कि रेत और खाद का मिश्रण तैयार कर ही प्लांट की कटिंग लगाएं। ब्रेंचिंग करने के साथ ही फंगीसाइट का स्प्रे करना चाहिए।हम संकर से ज्यादा से ज्यादा दो से तीन पौधे लगा सकते हैं लेकिन पौधे बनाने की विधि में मदर प्लांट से 30 से 40 पौधे तैयार किए जा सकते हैं। जब अच्छी बारिश होती है तो जमीन का तापमान अच्छा रहता है इस समय मदर प्लांट से कटिंग लेकर पौधा बनाना है। ठंड में हम पौधे नहीं बना पाएंगे क्योंकि इस समय ठंड की वजह से जड़ नहीं आ सकती।

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.