GLIBS

अनियमित कर्मचारियों की छंटनी पर शासन मौन, कर्मचारियों का छंटनी रोको आंदोलन

हर्षित शर्मा  | 25 Aug , 2019 01:09 PM
अनियमित कर्मचारियों की छंटनी पर शासन मौन, कर्मचारियों का छंटनी रोको आंदोलन

रायपुर। प्रदेश के विभिन्न विभागों से 5 हजार से अधिक अनियमित कर्मचारियों की छंटनी पर छत्तीसगढ़ संयुक्त प्रगतिशील कर्मचारी महासंघ की ओर से छंटनी रोको आंदोलन किया जा रहा है। महासंघ के प्रदेश सचिव राजकुमार कुशवाहा ने बताया कि कर्मचारियों की छंटनी निरन्तर जारी है। अनियमित कर्मचारियों की छंटनी पर रोक लगाने शासन/प्रशासन को महासंघ की ओर से पूर्व में कई पत्र प्रेषित किए गए लेकिन शासन की ओर से अब तक कोई सकारात्मक पहल नहीं की गई है। उन्होंने कहा कि वहीं दूसरी ओर जहां जिस पद पर नियमित कर्मचारियों का तबादला किया जा रहा है उस पद पर कार्य कर रहे अनियमित कर्मचारी, संविदा, दैनिक वेतन भोगी, प्लेसमेंट एजेंसी, कलेक्टर दर, अतिथि शिक्षक, मेहमान प्रवक्ता, सभी प्रभावित हो रहे हैं, जिससे उन्हें बाहर का रास्ता दिखा दिया जाएगा और उनके नियमित होने की उम्मीद वहीं समाप्त हो जाएगी।

प्रदेश सचिव राजकुमार कुशवाहा ने कहा कि लालफीताशाही इस कदर जड़े जमाई हुई है कि विभागीय मंत्रियों की बातों को भी अधिकारी नजरअंदाज कर रहे हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि अनियमित कर्मचारियों को अधिकारी अपने व्यक्तिगत द्वेष का शिकार बना रहे हैं, जबकि कांग्रेस के घोषणापत्र में स्पष्ट उल्लेख है कि किसी भी अनियमित कर्मचारी की छंटनी नहीं की जाएगी और ठेका प्रथा बंद की जाएगी। कुशवाहा ने कहा कि संबंध में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को अवगत कराने महासंघ के पदाधिकारी मुख्यमंत्री और विभागीय मंत्रियों को भी सूचित करने समय मांगें हैं। अनियमित कर्मचारियों के द्वारा 2018 में किये अनिश्चित कालीन हड़ताल में कांग्रेस के बड़े नेताओं ने मंच पर अपनी उपस्थिति देकर कांग्रेस की सरकार आने पर सभी अनियमिय कर्मचारियों को नियमित करने की बात कही थी।

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.