GLIBS

कोविड-19 से बचाव व जरूरी सावधानियों के बारे में श्रमिकों को हर सप्ताह किया जाएगा जागरूक

राहुल चौबे  | 03 Jun , 2020 03:16 PM
कोविड-19 से बचाव व जरूरी सावधानियों के बारे में श्रमिकों को हर सप्ताह किया जाएगा जागरूक

रायपुर। मनरेगा कार्यस्थलों पर कोविड-19 से बचाव और जरूरी सावधानियों के बारे में श्रमिकों को नियमित रूप से जागरूक किया जाएगा। ग्राम रोजगार सहायक और पंचायत सचिव सभी कार्यस्थलों में सप्ताह में एक दिन काम शुरू होने के पहले श्रमिकों को कोरोना वायरस संक्रमण से बचने के लिए ‘क्या करें और क्या नहीं’ की जानकारी देंगे। पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग ने सभी कलेक्टरों को परिपत्र जारी कर इसका पालन सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं। मजदूरों के बीच कोविड-19 संबंधी जन-जागृति संदेशों के प्रसार के लिए भारत सरकार द्वारा भी दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं। पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के प्रमुख सचिव गौरव द्विवेदी ने कलेक्टरों को लिखे पत्र में कहा है कि कोविड-19 का संक्रमण रोकने लागू देशव्यापी लॉक-डाउन में ग्रामीणों को स्थानीय स्तर पर रोजगार उपलब्ध कराने और ग्रामीण अर्थव्यवस्था की मजबूती के लिए मनरेगा के अंतर्गत प्रदेश भर में व्यापक स्तर पर काम शुरू किए गए हैं।

इन कार्यों से रोज करीब 22 लाख से 25 लाख जॉब-कॉर्डधारियों को रोजगार मिल रहा है। श्रमिकों की इतनी बड़ी संख्या के बीच कोरोना वायरस से बचाव के संदेशों के प्रचार-प्रसार के लिए मनरेगा कार्यस्थल प्रभावी और उपयुक्त जगह होंगे। काम के बाद श्रमिक इन संदेशों का प्रसार आम जनमानस के बीच भी कर सकते हैं। विभाग ने रोजगार सहायकों और पंचायत सचिवों को कोविड-19 से बचने ‘क्या करें और क्या नहीं’ के तहत मजदूरों को सार्वजनिक स्थानों पर तंबाकू, खैनी इत्यादि नहीं चबाने और थूकने की मनाही के बारे में जानकारी देने कहा है।

सार्वजनिक स्थानों पर कम से कम एक मीटर (तीन फीट) की शारीरिक दूरी बनाए रखने, व्यक्तिगत, श्वसन और हाथ की स्वच्छता बनाए रखने तथा आंख, नाक और मुंह को छूने से बचने जैसी सावधानियों के बारे में भी जागरूक करने कहा गया है। मनरेगा कार्यस्थलों पर श्रमिकों को हर सप्ताह हाथ से बने एवं दोबारा उपयोग किए जा सकने वाले मास्क से पूरे समय चेहरा ढंकने, मास्क नहीं होने पर साफ कपड़े या गमछे से चेहरा ढंकने, छींकते एवं खांसते समय नाक व मुंह को ढंकने, हाथों को बार-बार साबुन और पानी से धोने, साबुन और पानी उपलब्ध न होने पर कम से कम 60 प्रतिशत अल्कोहल की मात्रा वाले हैंड-सैनिटाइजर का उपयोग करने, घर के भीतर और बाहर नियमित साफ-सफाई रखने तथा स्पर्श वाली सतहों को कीटाणुरहित रखने के बारे में बताया जाएगा। मजदूरों को अनावश्यक यात्रा से बचने, सामाजिक आयोजनों व भीड़-भाड़ वाली जगहों से दूर रहने, बिना हाथ मिलाए और गले मिले दूर से हाथ जोड़कर अभिवादन करने और दूसरों का अभिवादन स्वीकार करने के बारे में भी जानकारी दी जाएगी। कोविड-19 पीड़ितों के स्वस्थ होकर लौटने या क्वारेंटाइन सेंटर्स से लौटे लोगों को खुले दिल से स्वीकार करने और ऐसे लोगों का तिरस्कार नहीं करने के बारे में श्रमिकों को जागरूक किया जाएगा।

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.