GLIBS

डब्ल्यूएचओ की फिर चेतवानी, दुनिया भर में और बि‍गड़ते जा रहे हैं कोरोना वायरस के हालात

ग्लिब्स टीम  | 09 Jun , 2020 11:43 AM
डब्ल्यूएचओ की फिर चेतवानी, दुनिया भर में और बि‍गड़ते जा रहे हैं कोरोना वायरस के हालात

नई दिल्ली। पूरी दुनिया में जानलेवा कोरोना वायरस का कहर जारी है। विश्व में लगातार बढ़ रहे कोरोना के मामलों के बीच विश्व स्वास्थ्य संगठन के प्रमुख ने चेतावनी दी। डब्ल्यूएचओ ने सोमवार को कहा कि कोरोना वायरस महामारी की स्थिति दुनिया भर में बिगड़ रही है। हालांकि यूरोप में स्थिति में सुधार हो रहा है। डब्ल्यूएचओ ने कहा कि उसने एक दिन में सबसे ज्यादा मामले रिकॉर्ड किए है। साथ ही कहा कि अमेरिका में कोविड-19 खतरनाक होता जा रहा है। जेनेवा में ऑनलाइन प्रेस कॉन्फ्रेंस में डब्‍लयूएचओ प्रमुख टेड्रोस एडहानोम गेब्रेयेसस ने कहा कि ‘यूरोप की स्थिति में सुधार हो रहा है, लेकिन वैश्विक स्तर पर हालात बिगड़ते जा रहे हैं।उन्होंने कहा कि पिछले 10 दिनों में से नौ दिनों में हर रोज एक लाख मामले सामने आए हैं।

कल 1,36,000 मामले सामने आए, जो एक दिन में सामने आई संक्रमितों की सबसे अधिक संख्या है। डब्ल्यूएचओ प्रमुख ने कहा कि इन मामलों में से 75 फीसदी मामले 10 देशों में सामने आए, जिनमें से अधिकतर अमेरिका और दक्षिण एशिया में रिपोर्ट किए गए। उन्होंने आगे कहा कि दुनिया भर में अधिकांश लोग अभी भी संक्रमण के लिए अतिसंवेदनशील हैं। टेड्रोस ने कहा कि इस महामारी को सामने आए छह महीने से अधिक का समय हो गया है। यह किसी भी देश के लिए महामारी रोकने के उपायों में कमी करने का समय नहीं है।

25 मई को अमेरिका में हुई जॉर्ज फ्लॉयह की हत्या को लेकर हो रहे विरोध प्रदर्शनों को लेकर डब्ल्यूएचओ प्रमुख ने कहा कि बड़े स्तर पर लोगों के इकट्ठा होने की वजह से वायरस की सक्रिय निगरानी की आवश्यक है, ताकि इसके प्रसार पर रोक लगाई जा सके। उन्होंने कहा कि डब्ल्यूएचओ पूरी तरह से समानता और नस्लवाद के खिलाफ वैश्विक आंदोलन का समर्थन करता है। हम सभी प्रकार के भेदभाव को अस्वीकार करते हैं। हम दुनिया भर में विरोध कर रहे सभी लोगों को सुरक्षित रूप से ऐसा करने के लिए प्रोत्साहित करते हैं। डब्ल्यूएचओ प्रमुख ने बताया कि संगठन ने 50 लाख पीपीई किटों को 110 देशों में भेजा है। बता दें कि, वैश्विक स्वास्थ्य निकाय ने एक अरब 29 करोड़ पीपीई किट को 126 देशों में भेजने का लक्ष्य रखा है।

ताज़ा खबरें

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.