GLIBS

मानसिक रोगियों की समस्याओं को समझने और परामर्श पर हुआ प्रशिक्षण

राहुल चौबे  | 15 Oct , 2019 07:39 PM
मानसिक रोगियों की समस्याओं को समझने और परामर्श पर हुआ प्रशिक्षण

रायपुर। राष्ट्रीय मानसिक स्वास्थ्य कार्यक्रम के तहत टोल फ्री सेवा 104 एवं नवजीवन कार्यक्रम, महासमुंद के परामर्शदाताओं का मानसिक तनाव एवं अवसाद पर दो दिवसीय राज्य स्तरीय प्रशिक्षण आज संपन्न हुआ। जीवन संस्था, जमशेदपुर के प्रशिक्षकों गुरप्रीत कौर भाटिया और  बीवी मीना ने  प्रतिभागियों को प्रशिक्षण दिया। प्रशिक्षण का आयोजन राज्य मानसिक स्वास्थ्य कार्यक्रम के राज्य कार्यक्रम अधिकारी डॉ महेंद्र सिंह के मार्गदर्शन में किया गया। प्रशिक्षण कार्यक्रम की जानकारी देते हुए राज्य कार्यक्रम समन्वयक डॉ सुमि जैन ने बताया कि प्रशिक्षण का मूल उद्देश्य स्वास्थ्य विभाग की टोल फ्री सेवा  104  एवं नवजीवन कार्यक्रम के परामर्शदाताओं को मानसिक स्वास्थ्य विषय पर समझ को बढ़ाना साथ ही मानसिक स्वास्थ्य की समस्या से जूझ रहे लोगों के आये फोन कॉल पर समस्याओं को समझना एवं परामर्श और उचित मार्गदर्शन देकर उन्हें स्वास्थ्य लाभ कराना है। प्रशिक्षण में मुख्य रूप से विषय विशेषज्ञों ने आत्महत्या रोकथाम और आत्महत्या विषय पर जागरुकता और समझ को बढ़ाया। आत्महत्या के बारे में और खुलकर बात करना, अवसाद और उसके नुकसान और मानसिक स्वास्थ्य से परेशान लोगों की जानकारी की गोपनीयता के महत्व पर समझ को बढ़ाया। फोन के माध्यम से आई परेशानियों को सुनने के कौशल को भी विकसित किया गया । यौन शोषण से परेशान कॉलर की मुश्किलों को समझना, रेफरल और सलाह देना प्रशिक्षण की प्रमुख गतिविधियां रहीं। प्रशिक्षण में 12 प्रतिभागियों ने भाग लिया। कार्यक्रम के अंत में राज्य कार्यक्रम अधिकारी डॉ महेंद्र सिंह ने प्रशस्ति पत्र दिया। 

 

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.