GLIBS

गांव में बाघ के पैरों के मिले निशान, फैली सनसनी, वन विभाग ने ग्रामीणों को किया सतर्क

नरेश भीमगज  | 27 Jan , 2020 10:41 PM
गांव में बाघ के पैरों के मिले निशान, फैली सनसनी, वन विभाग ने ग्रामीणों को किया सतर्क

कांकेर। शहर से मात्र 7 किमी की दूरी में स्थित ग्राम पंचायत आतुरगांव के पास बाघ के पैरों के निशान मिलने से सनसनी फैल गई है। वन विभाग के अफसरों में एक बार फिर हड़कंप मच गया है। सूचना मिलते ही सीसीएफ समेत वन विभाग के आला अधिकारियों ने मौके पर पहुंचकर जायजा लिया है। साथ ही ग्रामीणों को भी सतर्क रहने हिदायत दी गई। विदित हो कि कुछ ही दिनों पूर्व चारामा ब्लॉक के मैनखेड़ा व भोथा में बाघ के पैरों के निशान देखे गए थे। इसके बाद अब जिला मुख्यालय के इतने पास बाघ के पैरों के निशान देखे जाने से वन विभाग सकते में है। ग्रामीणों ने सुबह आतुरगांव के पास नदी के रेत और आस-पास किसी बड़े जानवर के पैर के निशान देख वन विभाग को इसकी सूचना दी। इसके बाद मौके पर पहुंचे वन विभाग के अधिकारियों ने बाघ के पैर के निशान होने की पुष्टि की। हालांकि अब तक बाघ को किसी ने देखा नहीं है लेकिन विभाग आतुरगांव में मिले पद चिन्ह को बाघ का पद चिन्ह होना बता रही है। सूचना मिलते ही सीसीएफ सहित विभिन्न अधिकारी कर्मचारी मौके पर पहुंच मुआयना करते क्षेत्र के समस्त वन कर्मचारियों को सर्तक एवं अपने क्षेत्र में लगातार निगरानी रखने के निर्देश दिए है। उक्त मामले पर सीसीएफ जेआर नायक ने बताया कि इलाके में इतने बड़े पैरों के निशान नहीं देखे गए हैं, जो निशान मिले हैं वह बाघ के पैरों के ही हैं। इसको देखते हुए ग्रामीणों को सतर्क रहने को कहा गया है। बाघ को ढूंढने के लिए तलाशी अभियान चलाया जा रहा है।

 

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.