GLIBS

पुरुष नसबंदी पखवाड़े का दूसरा चरण 4 दिसंबर तक   

राहुल चौबे  | 29 Nov , 2020 10:46 AM
पुरुष नसबंदी पखवाड़े का दूसरा चरण 4 दिसंबर तक   

रायपुर/बैकुंठपुर। स्वास्थ्य विभाग की ओर से परिवार नियोजन में पुरुषों की भागीदारी बढ़ाने के उद्देश्य से पुरुष नसबंदी पखवाड़े का आयोजन 21 नवंबर से 4 दिसंबर तक किया जा रहा है। प्रथम चरण में पुरूष नसबंदी के लिए जागरूकता कार्यक्रम चलाया गया अब द्वितीय चरण जो कि 28 नवंबर से 4 दिसंबर तक चलेगा इसको सेवा वितरण सप्ताह के रूप में मनाया जाएगा। इस दौरान लक्षित पुरुषों की नसबंदी करके परिवार नियोजन में पुरुषों की भागीदारी बढाने का प्रयास किया जाएगा। यह अभियान परिवार नियोजन में पुरुषों की भागीदारी, जीवन में लाए स्वास्थ्य और खुशहाली के नारे के साथ चलाया जा रहा है।

एनएफएचएस-4 के आंकड़ों की बात करें तो कोरिया जिले में परिवार नियोजन के स्थायी साधनों में पुरूषों की भागीदारी महिलाओं की अपेक्षा लगभग शून्य है एनएफएचएस-4 के अनुसार जहाँ एक ओर 34.4% महिलाएं महिला नसबंदी अपनातीं हैं वहीँ पुरूषों द्वारा पुरूष नसबंदी अपनाने की दर 0.1%  है। इस बड़े अंतर को कम करने के प्रयास में ही तमाम जागरूकता कार्यक्रम चलाये जा रहे हैं इसी क्रम में पुरुष नसबंदी पखवाड़े का भी आयोजन किया जा रहा है। सीएमएचओ डां रामेश्वर शर्मा ने बताया ,”पखवाड़े के अंतर्गत समस्त गतिविधियों का संचालन कोविड-19 से संबंधित सावधानियां एवं सलाह का पालन करते हुए किया जा रहा है। इस दौरान मुख्यत शारीरिक दूरी, मास्क पहनने, संक्रमण की रोकथाम का पूर्णता पालन के निर्देष स्वास्थ कर्मचारियो को दे दिए गये है। नसबंदी के तीन माह उपरांत जांच में शुक्राणु संख्या शून्य पाए जाने पर हितग्राही को प्रमाण पत्र भी प्रदान किया जाएगा। “ पुरुष नसबंदी पखवाड़े की जानकारी देते हुए जिला सलाहकार डां प्रिंस जायसवाल ने बताया, “इस पखवाड़े का उद्देश्य पुरुष नसबंदी के बारे में समाज में जागरूकता लाना और पुरुषों में नसबंदी को स्वीकार करने के लिए प्रेरित करना है। द्वितीय चरण में सेवा वितरण सप्ताह शुरु किया जा रहा है। इसमें संभावित लाभार्थियों की पुरुष नसबंदी की जाएगी। “

मोबिलाइजेशन गतिविधियां है जारी
इस पखबाड़े के दौरान अधिक से अधिक प्रचार प्रसार किया जा रहा जिसमें व्यक्तिगत चर्चा और पुरुष नसबंदी के फायदे संभावित हितग्राहियों को बताये जा रहे है। साथ ही पुरुष नसबंदी से संबंधित मिथकों को दूर करने के लिए परामर्श भी दिया जा रहा है। कोविड 19 के कारण प्रचार प्रसार के लिए डिजिटल माध्यम के प्रयोग को बल दिया जा रहा है। प्रचार प्रसार के दौरान कोविड-19 संक्रमण की रोकथाम के लिए पूरी सावधानी रखी जाएगी कहीं भी अधिक भीड़ एकत्रित ना हो इसका भी ध्यान रखा जा रहा है।

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.