GLIBS

सुबह सरपंच ने की थी शिकायत,दोपहर को मंत्री खुद तकनीकी सहायक को हटाने का आदेश लेकर पहुंचे गांव

रविशंकर शर्मा  | 24 Nov , 2020 10:41 PM
सुबह सरपंच ने की थी शिकायत,दोपहर को मंत्री खुद तकनीकी सहायक को हटाने का आदेश लेकर पहुंचे गांव

रायपुर। जिले के आरंग विकासखंड अंतर्गत ग्राम पलौद की सरपंच तारिणी साहू ने सुबह-सुबह मंत्री से शिकायत के बाद शायद सोचा भी नहीं था कि उसकी शिकायत पर घंटे भर के भीतर कार्रवाई हो जाएगी। दोपहर को मंत्री डॉ.शिव कुमार डहरिया पलौद ग्राम पहुंच गए। उन्होंने तकनीकी सहायक को गांव से हटाकर उसके स्थान पर नया तकनीकी सहायक पदस्थ करने का आदेश सरपंच के हाथों में दिया। दरअसल सरपंच को गांव में हो रहे निर्माण कार्य के गुणवत्ता और समय पर मूल्यांकन नहीं करने और मूल्यांकन के बदले पैसे की मांग के विषय पर तकनीकी सहायक से शिकायत थी। इस संबंध में जब कुछ अधिकारियों से उन्होंने बात की तो उनकी शिकायत को किसी ने गंभीरता से नहीं लिया। इस बात से क्षुब्ध सरपंच ने क्षेत्र के विधायक और कैबिनेट मंत्री डॉ.शिवकुमार डहरिया के पास इंजीनियर की ओर से पैसे मांगने,कार्यों के मूल्यांकन में विलंब करने से मजदूरों को मजदूरी भुगतान में होने वाली देरी की शिकायत की।

कार्रवाई पर सरपंच सहित ग्रामवासियों ने जताई खुशी
शिकायत के कुछ घंटों में ही मंत्री डॉ.डहरिया तकनीकी सहायक को हटाने का आदेश लेकर पहुंच गए। इस दौरान उन्होंने सरपंच से कहा कि यदि किसी विकास कार्य में गुणवत्तापूर्ण कार्य नहीं कराए जाते हैं तो इसकी शिकायत अवश्य करें। शिकायत सहीं और तथ्यात्मक हो ताकि किसी को हटाने की बजाय सस्पेंड की कार्रवाई की जा सके। मंत्री की ओर से उनकी शिकायत पर की गई त्वरित कार्रवाई पर सरपंच को पहले तो विश्वास नहीं हो रहा था, लेकिन जैसे ही आदेश पढ़ा उसकी खुशी का ठिकाना न रहा। अन्य क्षेत्रों की तरह यहां भी मंत्री डॉ. डहरिया ने विभिन्न विकास कार्यों के लिए लाखों रुपए की स्वीकृति प्रदान की है। सरपंच की देखरेख में कार्य कराया जा रहा है। मंत्री डॉ. डहरिया की इस कार्रवाई से पलौद के सरपंच सहित ग्रामवासियों ने भी खुशी जताई। इस मामले में तकनीकी सहायक शकुंतला बिंदिया के स्थान पर काजल श्रीवास को जिम्मेदारी दी गई है।


 


तीन दिन बाद करना था उद्घाटन,मंत्री ने कहा गांव आया हूं तो आज ही कर देता हूं  
ग्राम पलौद पहुंचे मंत्री डॉ. डहरिया ने वहां स्वीकृत कार्यों की प्रगति के संबंध में पूछा। इस दौरान सरपंच ने बताया कि मण्डी चबूतरा का काम लगभग पूरा हो गया है। कुछ दिन बाद 1 दिसबंर से यहा सहकारी सेवा समिति के माध्यम से धान खरीदी में चबूतरे का उपयोग होगा। धान खरीदी से पहले आपको इस चबूतरे का उद्घाटन और नए कार्य के शिलान्यास के लिए गांव आना है। आप समय दे दीजिए। इस दौरान मंत्री डॉ डहरिया मुस्कुराएं और कहा कि बार-बार खर्च बढ़ाने उद्घाटन के लिए गांव आने से अच्छा है कि आज ही उद्घाटन और शिलान्यास कर देता हूं। मंत्री के अचानक ऐसे निर्णय से सरपंच सहित ग्रामीण जनप्रतिनिधि असहज नजर आएं।

मंत्री डहरिया ने तत्काल की सामग्री की व्यवस्था
 श्रीफल सहित अन्य सामग्री की कमी और आवश्यक तैयारी नहीं थी। डॉ.डहरिया ने सभी को आश्वस्त करते हुए कहा कि कोई बात नहीं है। अपने वाहन से उन्होंने पानी को बोतल मंगवाया और आसपास दुकान से श्रीफल। गांव की सरपंच, जिला पंचायत सदस्य, जनपद सदस्य और पंच सहित अन्य जनप्रतिनिधियों और ग्रामीणों को मौके पर बुलवाकर मंडी चबूतरे का लोकार्पण कर दिया। इस दौरान उन्होंने कहा कि धान खरीदी में इस चबूतरें का उपयोग अवश्य करना।

 

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.