GLIBS

उर्वरक निर्माता कंपनियों में सैम्पल लेने पहुंची टीम,46 टन जिंक सल्फेट किया गया जब्त

रविशंकर शर्मा  | 11 Aug , 2020 10:13 PM
उर्वरक निर्माता कंपनियों में सैम्पल लेने पहुंची टीम,46 टन जिंक सल्फेट किया गया जब्त

रायपुर। कलेक्टर डॉ.एस.भारतीदासन के निर्देश पर मंगलवार को जिले के विभिन्न उर्वरक निर्माता कंपनी की ओर से निर्मित उर्वरक की गुणवत्ता की जांच के लिए गठित दल ने  नमूना लिया। इसी तारतम्य में रासायनिक उर्वरक जिंक सल्फेट निर्माता कंपनी मेसर्स ओम केमिकल्स उरला स्थित विनिर्माण इकाई का आकस्मिक निरीक्षण दल ने किया। कंपनी की ओर से निर्मित जिंक सल्फेट उवर्रक के 2 नमूने परीक्षण के लिए लेकर उर्वरक गुण नियंत्रण प्रयोगशाला भेजा गया। उर्वरक (नियंत्रण) आदेश 1985 का उल्लंघन पाए जाने के कारण उर्वरक निरीक्षक ने भंडारण और विक्रय पर तत्काल प्रभाव से प्रतिबंधित किया। रासायनिक उर्वरक जिंक सल्फेट 46 टन जब्त कर कारण बताओं नोटिस जारी किया गया है।
इसी तरह उर्वरक निर्माता कंपनी मेसर्स अल्फा क्रॉप साइंस, 372 सेक्टर-सी, उरला इण्डस्ट्रीयल क्षेत्र रायपुर के परिसर का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान 2 नमूने मिश्रित उर्वरक और 3 नमूने कीटनाशी लिया जाकर परीक्षण के लिए गुण नियंत्रण प्रयोगशाला में भेजा गया। उर्वरक निर्माता कंपनी मेसर्स माधव एग्रो इण्डस्ट्रीज भनपुरी रायपुर के विनिर्माण परिसर का निरीक्षण किया गया। रासायनिक उर्वरक जिंक सल्फेट  और मैग्नीशियम सल्फेट के 1-1 नमूना लिया गया। उर्वरक निमार्ता कंपनी मेसर्स संगम इस्पात लिमि. इण्डस्ट्रीयल क्षेत्र सरोरा रायपुर के परिसर का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान 1 माइकोरायजा जैव उर्वरक का नमूना लेकर परीक्षण के लिए गुण नियंत्रण प्रयोगशाला भेजा गया।
उपसंचालक आरएल खरे ने कहा कि, जिले में विभिन्न प्रकार के रासायनिक उर्वरक के 121 नूमने उर्वरक निर्माता कंपनी और विक्रय केन्द्रों से लेकर परीक्षण के लिए प्रयोगशाला भेजा गया। खरीफ मौसम में गुणवत्तायुक्त रासायनिक उर्वरक का भंडारण- वितरण के लिए जिले के समस्त विक्रय केन्द्रों का निरीक्षकों ने निरीक्षण कर गुणवत्ता के लिए निगरानी रखी जा रही है। कृषि आदानों के गुणवत्ता अमानक पाए जाने की स्थिति में प्रावधानानुसार कड़ी कार्यवाही की जाएगी। इसके लिए जिला स्तर पर नियंत्रण कक्ष भी स्थापित किया गया है। उन्होंने कृषकों को प्राथमिक सहकारी समिति विक्रय केन्द्र से आवश्यकता अनुसार उर्वरक प्राप्त करने कहा है। उर्वरक आपूर्ति या गुणवत्ता में किसी भी प्रकार की संशय होने पर क्षेत्रीय कृषि अधिकारी या किसान हेल्पलाइन टोल फ्री नं. 18002331850 जिला रायपुर से संपर्क कर सकते हैं।

 

 

 

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.