GLIBS

ओपन स्कूल परीक्षा के नाम पर छात्रों से धोखाधड़ी,चपरासी पर लग रहे आरोप, छात्रों ने पुलिस में की शिकायत

वैभव चौधरी  | 07 Aug , 2020 09:43 PM
ओपन स्कूल परीक्षा के नाम पर छात्रों से धोखाधड़ी,चपरासी पर लग रहे आरोप, छात्रों ने पुलिस में की शिकायत

धमतरी। ओपन स्कूल परीक्षा के नाम पर धोखाधड़ी का सनसनीखेज मामला सामने आया है। इसमें चपरासी पर रुपये लेने का आरोप लग रहा है किंतु वह चपरासी कौन है फिलहाल यह स्पष्ट नहीं हो पाया है, इस मामले को लेकर छात्रों ने कुरूद पुलिस में शिकायत की है। ज्ञात हो कि ओपन स्कूल परीक्षा के माध्यम से भविष्य संवारने का एक सुनहरा मौका मिलता है,किंतु कुरूद क्षेत्र से जो मामला सामने आया है उसमें छात्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़ कर दिया गया है। बताया गया कि बीते वर्ष ओपन स्कूल परीक्षा में बैठने के लिये कुरुद क्षेत्र के ग्रामीण इलाकों के छात्रो ने फार्म भरे थे। कक्षा दसवीं एवं बारहवीं की परीक्षा दिलाने निर्धारित शुल्क भी जमा किया गया था लेकिन अब जाकर पता चल रहा है कि वह लोग जिसके पास निर्धारित शुल्क जमा कराये थे उसने शुल्क को आगे जमा नही किया। यही वजह है कि उन्हें परीक्षा में बैठने के लिये प्रवेश पत्र नहीं मिल पाया। जब छात्रों को यह बात पता लगी तो उनमें हड़कम्प मच गया।पीड़ित छात्रों ने पुलिस में लिखित शिकायत की है। छात्रों में प्रकाश साहू,विष्णु साहू,पूजा साहू, ओम कुमारी, प्रखर रजंन ने बताया कि माध्यमिक शिक्षा मण्डल की 4 और 9 अगस्त को होने वाली 10, 12 वीं की परीक्षा के लिए शासकीय उच्चतर माध्यमिक बालक विद्यालय में 22 से 27 नवंम्बर 2019 को ओपन परीक्षा सेंटर के काउन्टर में निर्धारित 1500 एवं 1700 रुपए और फार्म जमा कराया गया था। लेकिन दर्जनों विद्यार्थीयों को परीक्षा में बैठने की पात्रता नहीं मिली। उन्होंने जिस व्यक्ति के पास पैसा जमा कराया था, उसने रसीद नहीं दी थी। छात्रों ने शिकायत कर कार्यवाही की मांग की है। इस सम्बंध में कूरुद थाना प्रभारी गगन बाजपेई ने बताया कि छात्रों की शिकायत प्राप्त हुई है पुलिस जांच कार्यवाही कर रही है।

स्कूल से मांगी गई है रिपोर्ट: डीईओ
इस मामले में जिले की शिक्षा अधिकारी रजनी नेल्सन ने बताया कि संबंधित स्कूल से जवाब तलब किया गया है,जिससे यह बात स्पष्ट हुई है कि स्कूल के काउंटर में जितने छात्र छात्राओं ने शुल्क व दस्तावेज जमा किये थे उन सभी के रिकार्ड स्कूल में है और उन छात्र छात्राओं के प्रवेश पत्र भी आये है। मगर जो छात्र छात्राये बाहर चपरासी को दस्तावेज व रकम दिये है उसकी जानकारी स्कूल में नही है। इस मामले में उन्होंने स्कूल प्रिंसिपल से एक रिपोर्ट तैयार कर पूरे मामले की जानकारी मांगी है।

 

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.