GLIBS

विद्यार्थियों का खेवनहार बने शिक्षा सारथी,सहभागिता ने उठाया मुहल्ला क्लास का जिम्मा

विद्यार्थियों का खेवनहार बने शिक्षा सारथी,सहभागिता ने उठाया मुहल्ला क्लास का जिम्मा

महासमुंद। कोरोना से बच्चों की पढ़ाई पर खासा असर पड़ा है। ऐसे में महासमुंद ब्लाक के बारनवापारा अभ्यारण्य के विस्थापित वन ग्राम, जो अब रामसागर (नया भावा) के नाम से प्रचलित है। गाॅव के पंच राजकुमार ठाकुर व भूतपूर्व सरपंच आनंद यादव की नवाचारी पहल व महिलाओं में  भुनेश्वरी ठाकुर, गीता बाई, मोंगरा आदि कि सहभागिता से मुहल्ला क्लास की पढ़ाई ने विद्यार्थियों को बड़ा सहारा दिया है। जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार कक्षाएं लगने से विद्यार्थियों में खुशी देखी जा रही है,वहीं अभिभावकों के मन में भी संतुष्टि साफ झलक रही है। गांव के ही दो शिक्षक गणेश सिंह एवं देवानंद नागवंशी शिक्षा सारथी बनें एमबीबीएस डॉ.प्रेमचंद ध्रुव, छबिला निषाद, मोनिका ध्रुव, धनीराम बारिक, हुमन यादव, भीष्मा यादव जैसे युवाओं ने निःस्वार्थ होकर जूनियर से सीनियर क्लास के बच्चों को शिक्षित कर विद्यार्थियों के लिए संकटमोचक साबित हो रहे है।
सामुदायिक भवन, रंगमंच में लगने वाली मोहल्ला क्लास के दो पाली के इस शिक्षण कार्य में विद्यार्थियों का भी भरपूर सहयोग मिल रहा है। कक्षा संचालन में ग्राम के एक शिक्षक देवानंद नागवंशी ने मिसाल ही पेश कर दी, विद्यार्थियों के अध्यापन के लिए ये अपना पूरा घर को ही उपलब्ध करा दिया है। विद्यार्थियों को पढ़ना आसान हो इसके लिए शैक्षणिक सामाग्री ब्लैक बोर्ड, चाक,चार्ट उपलब्ध है एवं विद्यार्थियों के हाथों की स्वच्छता के लिए हैंडवाश और सैनिटाइजर की व्यवस्था ग्राम विकास समिति पदाधिकारी अध्यक्ष तेजराम यादव, सचिव सुरेश निषाद, दिलीप यादव द्वारा उपलब्ध कराया गया है। विद्यार्थियों में खुशी, रागिनी, योगिता, पायल, तुलसी, हेमा, निशा,पूनम व पार्थिव, चंद्रकान्ता, रोहन, भानुप्रताप, गनपत, डोलेश का कहना है कि वे अध्यापन कार्य से वे खुश हैं।

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.