GLIBS

जय किसान फसल ऋण माफी योजना के शेष आवेदन लिए जाएंगे 15 से 31 जनवरी तक

ग्लिब्स टीम  | 13 Jan , 2020 08:48 PM
जय किसान फसल ऋण माफी योजना के शेष आवेदन लिए जाएंगे 15 से 31 जनवरी तक

छिन्दवाड़ा। राज्य शासन द्वारा जय किसान फसल ऋण माफी योजना के अंतर्गत आवेदन करने से शेष रह गये किसानों से आवेदन पत्र प्राप्त करने के निर्देश दिये गये है। इन निर्देशों के परिपालन में जिले के सहकारी बैंक, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक और राष्ट्रीयकृत बैंक के 2 लाख रूपये तक के चालू व कालातीत ऋणी खातों में 31 मार्च 2018 की स्थिति में बकाया राशि के ऋणी कृषक जो उस समय आवेदन नहीं कर सके थे अब 15 से 31 जनवरी तक संबंधित ग्राम पंचायत या विकासखंड के जनपद पंचायत कार्यालय में केवल पिंक-1 (गुलाबी) आवेदन जमा कर सकते है। कलेक्टर डॉ. श्रीनिवास शर्मा द्वारा इस संबंध में जिले की सभी जनपद पंचायतों के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों को आवश्यक कार्यवाही सुनिश्चित करने के निर्देश दिये गये हैं।

उप संचालक कृषि ने बताया कि जय किसान फसल ऋण माफी योजना के अंतर्गत विकासखंड स्तर पर सभी जनपद पंचायतों से आवेदन पत्र प्राप्त करने के कार्य का संपादन कराया जा रहा है और ऋणी कृषकों से आवेदन प्राप्त करने के लिये शासकीय सेवकों को नियुक्त किया जा रहा है। जनपद पंचायतों में प्राप्त आवेदनों की पोर्टल पर डाटा एंट्री का कार्य एक से 10 फरवरी तक नियत शासकीय सेवकों द्वारा ऑफलाईन आवेदन का सत्यापन करने के बाद किया जायेगा। उन्होंने बताया कि गुलाबी आवेदन पत्रों को जिला स्तर से संबंधित बैंक शाखा और समिति को प्रेषित किया जायेगा तथा संबंधित बैंक शाखा/समिति द्वारा परीक्षण के बाद कृषक के आवेदन का निराकरण किया जायेगा। ऋणी कृषक के आवेदन का आधार प्रमाणीकरण अनिवार्य है। बैंक द्वारा निराकृत प्रकरण को अनुमोदन के लिये जिला स्तर पर भेजा जायेगा और जिला स्तर से बैंक के प्रस्ताव का परीक्षण करने के बाद उसे अनुमोदित कर स्वीकृति की कार्यवाही की जायेगी। सभी जनपद पंचायतों को पर्याप्त संख्या में पिंक-1 आवेदन उपलब्ध कराये जा रहे हैं।

उप संचालक कृषि ने बताया कि इस संबंध में जिले की सभी जनपद पंचायतों के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों को निर्देश दिये गये हैं कि 14 जनवरी को सभी ग्राम सचिवों और रोजगार सहायकों की बैठक लेकर उन्हें कार्य संपादित करने के संबंध में मार्गदर्शन दे और नामजद नोडल अधिकारी की नियुक्ति करें। यह नोडल अधिकारी वर्ग-3 स्तर का होना चाहिये। प्रत्येक ग्राम पंचायत में कृषकों को सूचित करने के लिये अनिवार्य रूप से मुनादी कराये ताकि निर्धारित समयावधि में कृषकों से आवेदन पत्र प्राप्त किये जा सके। बैंकों द्वारा जारी सूची में से उस समय जिन कृषकों द्वारा आवेदन नहीं दिया गया है, उन्हीं कृषकों से पिंक-1 आवेदन भरवायें और आवेदन प्राप्ति की पावती कृषकों को दें। आवेदन प्राप्त करने के बाद नोडल अधिकारी सभी आवेदनों को जनपद पंचायत कार्यालय में जमा करायेंगे।

ग्यास अहमद रिपोर्ट

 

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.