GLIBS

राजस्थान के दसवें मुख्यमंत्री शिवचरण माथुर की पुण्यतिथि आज, जाने उनका इतिहास

राहुल चौबे  | 25 Jun , 2021 11:28 AM
राजस्थान के दसवें मुख्यमंत्री शिवचरण माथुर की पुण्यतिथि आज, जाने उनका इतिहास

रायपुर। भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के राजनीतिज्ञ और राजस्थान के दसवें मुख्यमंत्री शिवचरण माथुर की शुक्रवार को पुण्यतिथि है। वे 14 जुलाई, 1981 से 23 फ़रवरी 1985 तक और फिर 20 जनवरी 1988 से 4 दिसंबर, 1989 तक राजस्थान के मुख्यमंत्री रहे। बता दें कि दिग्गज कांग्रेस नेता और दो बार राजस्थान के मुख्यमंत्री रहे शिवचरण माथुर के नाम अपने कार्यकाल में लोकसभा की सभी 25 सीटें जीतने और सभी सीटें हारने का रिकॉर्ड है।
भीलवाड़ा नगरपालिका अध्यक्ष पद से अपना राजनीतिक जीवन शुरू करने वाले शिवचरण माथुर भीलवाड़ा के जिला प्रमुख, सांसद और राजस्थान सरकार में कई बार मंत्री रहे। हालांकि शिवचरण माथुर का जन्म मध्यप्रदेश के गुना जिले के नाडीकानूगो गांव में हुआ था। लेकिन उनकी शिक्षा और कार्यक्षेत्र राजस्थान ही रहा। शिवचरण माथुर 14 जुलाई 1981 को पहली बार राजस्थान के मुख्यमंत्री बने और 23 फ़रवरी, 1985 तक इस पद पर रहे। इस कार्यकाल के दौरान ही 1984 में लोकसभा के चुनाव हुए। तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की हत्या से उपजी सहानुभूति लहर ने राजीव गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस को देश भर में ऐतिहासिक जीत दिलाई। राजस्थान में कांग्रेस ने क्लीन स्वीप करते हुए सभी 25 लोकसभा सीटें जीतीं। तब राजस्थान में ऐसा पहली बार हुआ, जब सभी 25 सीटें एक पार्टी के खाते में गई हो। मुख्यमंत्री पद से हरीदेव जोशी की विदाई के बाद शिव चरण माथुर 20 जनवरी 1988 को दूसरी बार मुख्यमंत्री बने। उनके इस कार्यकाल के दौरान नवंबर 1989 के अंत में लोकसभा चुनाव हुए। इस चुनाव में पिछले चुनावों के बिल्कुल उलट कांग्रेस सभी 25 सीटों पर चुनाव हार गई। भाजपा 13 और जनता दल 11 सीटों पर जीती जबकि बीकानेर सीट पर माकपा के श्योपत सिंह विजयी रहे। लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की इस दुर्दशा पर शिवचरण माथुर ने 4 दिसंबर 1989 को अपना इस्तीफा दे दिया।

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.