GLIBS

बच्चों को उचित शिक्षा और संस्कार देना अनिवार्य: अक्षर फाउंडेशन

वैभव चौधरी  | 25 Feb , 2021 08:55 PM
बच्चों को उचित शिक्षा और संस्कार देना अनिवार्य: अक्षर फाउंडेशन

धमतरी। बच्चे ही समाज का भविष्य हैं, ये तो हम सभी समझते हैं। परंतु इस भविष्य की निधि को सही दिशा देने के लिए उचित शिक्षा और संस्कार अत्यंत अनिवार्य हैं। हम सब आज जो भी हैं, समाज के ही आधार से हैं। इसलिए अपनी क्षमता का एक हिस्सा समाज के निर्माण में वापस देना हममें से हर नागरिक का कर्तव्य है। और बच्चों के विकास में महिलाओं से बेहतर भूमिका भला कौन निभा सकता है? हमारी भावी पीढ़ी के निर्माण से ही देश का और एक बेहतर विश्व का निर्माण संभव है। ये विचार अक्षर फाउंडेशन की स्वयं सेविकाओ और विहंगम योग संस्थान की महिला कार्यकर्ताओं द्वारा व्यक्त किये। महिलाएं अक्षर फाउंडेशन की ओर से 25 फरवरी को विहंगम योग संत समाज जिला धमतरी के मानसिक (मंदता) दिव्यांग सार्थक सेवा केन्द्र धमतरी एवं एक्जेक्ट फाउंडेशन रूद्री में स्थित स्कूल में लगभग 70 बच्चों के बीच पाठ्य सामग्री एवं अन्य उपहार के वितरण कार्य का संचालन कर रही थीं।
अक्षर फाउंडेशन, सद्गुरु सदाफलदेव विहंगम योग संस्थान की मातृ-शक्ति द्वारा संचालित सेवा संगठन है,जो कि बाल कल्याण की दिशा में कार्यरत है। 25 फरवरी को हर वर्ष देश भर में हजारों जरूरतमंद बच्चों को पाठ्य सामग्री आदि उपहार वितरित किये जाते हैं। विहंगम योग संस्थान द्वारा देश के विभिन्न स्थानों पर निःशुल्क आवासीय विद्यालय भी संचालित हैं जो कि हर वर्ष अनेकानेक जरूरतमंद बच्चों को संस्कार और शिक्षा प्रदान कर रहे हैं। ये बच्चे आगे चलकर समाज के अग्रणी जनों के रूप में एक बेहतर भारत की नींव रख रहे हैं।
इस पाठ्य सामग्री वितरण कार्यक्रम के बाद मानसिक (मंदाता) दिव्यांग सार्थक सेवा केन्द्र के अध्यक्ष सरिता दोशी एवं एक्जेक्ट फाउण्डेशन के अध्यक्ष लक्ष्मी सोनी ने इस आयोजन के लिए अक्षर फाउंडेशन के प्रति आभार व्यक्त करते हुए इस आयोजन की प्रशंसा की एवं मानव कल्याण के लिए आवश्यक बताया कहां कि इस प्रकार के कार्यक्रम न सिर्फ बच्चों के लिए बहुत मददगार हैं, बल्कि इससे उनका मनोबल भी बढ़ता है और उनके अंदर समाज के प्रति आदर की भावना का विकास होता है। कार्यक्रम के आयोजन में महालक्ष्मी बघेल (उपदेष्टा) सुमन साहू, सकुन साहू , सरिता साहू, लिलेश्वरी रजक, कल्याणी बघेल, मोनिका बघेल, अर्चना बघेल, शशि निर्मलकर, रूबी कुर्रे, देवश्री जोशी, देवमनी मानिकपुरी, सुधा पुरी गोस्वामी, मैथिली गोड़े, देविका दीवान, सुनैना गोड़े, आरती रणसिंह,जूली निर्मलकर,मनीषा निर्मल कर, एच एल चक्रधारी (प्रांतीय समन्वयक), बेदराम साहू (जिला संयोजक), नामदेव साहू (जिला कोष प्रभारी) टीकम साहू, मुकेश चौधरी, मान राहुल दुग्गड आदि का विशेष सहयोग रहा।

 

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.