GLIBS

सड़क दुर्घटना में एक पैर गंवा चुके युवक को कृत्रिम पैर लगवा कर पुलिस ने दिया मानवता का परिचय,दिव्यांग ने जताया आभार

उदय मिश्रा  | 28 Jun , 2021 09:36 PM
सड़क दुर्घटना में एक पैर गंवा चुके युवक को कृत्रिम पैर लगवा कर पुलिस ने दिया मानवता का परिचय,दिव्यांग ने जताया आभार

राजनांदगांव। पुलिस ने मानवता का परिचय देते हुए दिव्यांग युवक को कृत्रिम पैर लगवाया। वशिष्ट रामटेके निवासी रामनगर की सड़क दुर्घटना में 5 वर्ष पहले पैर में चोट आई थी। इसका वह इलाज करवाता रहा परन्तु घाव ठीक नहीं होने से चिकित्सकों की राय से उसका दाहिने पैर काटना पड़ा। पैर कटने के बाद वह बेरोजगार हो गया। माता-पिता, पत्नी और एक बच्ची के पालन पोषण की जिम्मेदारी वशिष्ठ रामटेके के कंधे पर थी। एक दिन उसके हालात की जानकारी सोशल मीडिया के माध्यम से पुलिस चौकी चिखली प्रभारी चेतन चंद्राकर को मिली। चेतन चंद्राकर ने मामले की तस्दीक की और त्वरित राहत के तौर पर वशिष्ठ रामटेके के घर राशन भिजवाया। इसके बाद उसके कृत्रिम पैर लगाने के लिए समाजसेवियों से संपर्क कर रायपुर में कृत्रिम पैर लगाने की व्यवस्था की। कृत्रिम पैर का निर्माण होते तक उसके रायपुर में रूकने खाने-पीने का प्रबंध भी किया गया। बिना पैर के बैसाखी के सहारे चलने वाला रामटेके ने आज अपने कृत्रिम पैर के सहारे चलकर ओपी चिखली प्रभारी चेतन चंद्राकर का धन्यावाद किया। दिव्यांग वशिष्ठ रामटेके ने पुलिस अधीक्षक कार्यालय आकर पुलिस अधीक्षक डी.श्रवण को अपने लिए किए गए इस उपकार के लिए धन्यावाद ज्ञापित किया। चिखली चौकी प्रभारी चेतन चंद्राकर ने बताया कि वशिष्ठ रामटेके के निजी संस्थान नौकरी की भी व्यवस्था कर दी गई है ताकि उसके परिवार का भरण-पोषण हो सके।

 

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.