GLIBS

तेलीबांधा तालाब के किनारे हर वर्ग के लोग पंहुचे दीया लेने

हर्षित शर्मा  | 24 Oct , 2019 09:21 PM
तेलीबांधा तालाब के किनारे हर वर्ग के लोग पंहुचे दीया लेने

 रायपुर। दीपावली पर छत्तीसगढ़ के कुम्हारों के मिट्टी के दीए के इस्तेमाल को लेकर 5 साल पहले शुरू की गई मुहिम अब रंग दिखा रही है। प्रदेशभर में अलग-अलग संगठन मिट्टी के दीए के इस्तेमाल को लेकर जागरुकता फैला रहे हैं। आज गैलेक्टिक सिंक्रोनाइजर की ओर से एक लाख दीए का नि:शुल्क वितरण किया। कार्यक्रम संयोजक डॉ सत्येंद्र पांडे और सैयद अकील ने बताया कि तेलीबांधा तालाब के किनारे हर वर्ग के लोग दीया लेने पहुंचे। लायंस क्लब रायपुर मेंस ग्रेटर के सैयद शकील ने बताया कि यह कार्यक्रम स्थानीय कुम्हारों के रोजगार को बढ़ावा देने के उद्देश्य से किया जा रहा है। सच्चिदानंद उपासने ने बताया कि सामाजिक संगठन, जनप्रतिनिधियों, पुलिस और युवाओं के सहयोग से मिट्टी के दीए का नि:शुल्क वितरण किया गया। इस अवसर पर कुटुंब न्यायालय के न्यायाधीश अगर लाल जोशी,  गुलजेब अहमद, प्रियंका बिस्सा, अनुराग अग्रवाल, उमेश घोरमोड़े, अमरजीत छाबड़ा, विशाल शुक्ला, विपिन अग्रवाल, कुतुब कपासी, हर्षिता, विनोद पाहवा, किशोर महानंद सहित अन्य मौजूद थे।

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.