GLIBS

राजनांदगांव जिले के टेडसरा गांव के लोगो ने तन्मयता से सुनी अपने मुख्यमंत्री की बाते रेडियो पर

यामिनी दुबे  | 13 Dec , 2020 06:06 PM
राजनांदगांव जिले के टेडसरा गांव के लोगो ने तन्मयता से सुनी अपने मुख्यमंत्री की बाते रेडियो पर

रायपुर/राजनांदगांव। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की रेडियो वार्ता लोकवाणी की 13वीं कड़ी छत्तीसगढ़ सरकार दो वर्ष का कार्यकाल विषय पर राजनांदगांव विकासखंड के ग्राम टेड़ेसरा में ग्रामवासियों ने तन्मयता पूर्वक सुना। मुख्यमंत्री ने रेडियो वार्ता में कहा कि आम जनता,किसानों, आदिवासियों और कमजोर तबकों का सशक्तिकरण छत्तीसगढ़ के विकास मॉडल की प्रमुख विशेषता है। राज्य सरकार ने किसानों के लिए कर्ज माफी, धान खरीदी, सुराजी गांव, राजीव गांधी किसान न्याय योजना और गोधन न्याय योजना जैसी अनेक योजनाएं लागू की, जिनसे गांवों को निरंतर शक्ति मिल रही है। औद्योगिक इकाईयों में भी 1500 करोड़ रूपए का पूंजी निवेश हुआ। जिसमें बड़ी संख्या में लोगों को रोजगार मिला। विगत दो सालों में 887 औद्योगिक इकाइयों की स्थापना, 15 हजार करोड़ रूपए का पूंजी निवेश और 15 हजार 400 लोगों को इन उद्योगों में रोजगार मिलना उत्साहजनक है। मनरेगा में 25 लाख से अधिक लोगों को हर रोज काम देने का उदाहरण है, बेरोजगारी दर 22 प्रतिशत से घटाकर 2 प्रतिशत तक लाने का उदाहरण भी है। उन्होंने कहा हमारी नई औद्योगिक नीति से आदिवासी अंचलों में भी तेजी से उद्योग लगे और क्षेत्रीय विकास का मार्ग प्रशस्त हो, वहीं रोजगार के नए-नए अवसर बने। उन्होंने कहा कि किसानों, अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और कमजोर वर्ग के लोगों को न्याय दिलाना राज्य सरकार की पहली प्राथमिकता है। गोधन न्याय योजना के अंतर्गत हर माह औसतन लगभग 15 करोड़ रूपए की सरकारी खरीद हो रही है, जिसके कारण 4 माह में लगभग 60 करोड़ रूपए पशुपालकों को प्राप्त हुए हैं।

यूनिवर्सल हेल्थ केयर के अंतर्गत दो वर्ष के भीतर बीमा कंपनियों की जगह राज्य की पहल और अनुशासन से देश की सबसे बड़ी स्वास्थ्य योजनाएं डॉ. खूबचंद बघेल योजना तथा मुख्यमंत्री विशेष सहायता योजना संचालित करके, एक बड़ा सपना साकार किया है। जिसमें पात्रता अनुसार 50 हजार से 20 लाख रूपए तक का इलाज मरीजों को निःशुल्क मुहैया कराया जा रहा है। उपसरपंच देवलाल साहू ने कहा कि नरवा, गरूवा, घुरूवा, बाड़ी योजना अंतर्गत गौठान बनाया गया हैं। इस गौठान में 29 वर्मी टैंक का निर्माण किया गया है। जिस का सफलतापूर्वक क्रियान्वयन किया जा रहा है। महिला स्व-सहायता समूह के माध्यम से गोबर की खरीदी और वर्मी कम्पोस्ट का निर्माण किया जा रहा है। जिससे उनकी आर्थिक आमदनी में वृद्धि हो रही है। गौठान में अभी तक 1481 क्विंटल गोबर की खरीदी की जा चुकी है। वर्मी कम्पोस्ट का निर्माण भी लगातार किया जा रहा है। शासन की इन योजनाओं से गांव के लोगों की आर्थिक स्थिति में सुधार हुआ है। इसके लिए उन्होंने मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल को धन्यवाद दिया। गौठान के सभापति भीखमदास साहू ने बताया कि धान का समर्थन मूल्य 2500 रूपए मिलने से किसान अपनी आवश्यकताएं पूरी करने में सक्षम हो रहे हैं। शासन की लोकहितैषी योजनाओं से ग्रामीण अंचलों के प्रत्येक व्यक्ति लाभान्वित हो रहे हैं।  रेखाराम यदु ने बताया कि शासन द्वारा बिजली बिल आधा करने से आर्थिक मदद मिली है। किसानों के कर्ज माफ  होने से ऋण का बोझ समाप्त हुआ है। जिससे खेती-किसानी में उत्साह बढ़ा है। इसके लिए उन्होंने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल व शासन का आभार व्यक्त किया है।

 

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.