GLIBS

महिलाओं के साथ अत्याचार के खिलाफ पीआईएसएफ  ने निकाली रैली, दोषियों को फांसी देने की मांग

ग्लिब्स टीम  | 03 Dec , 2019 09:04 PM
महिलाओं के साथ अत्याचार के खिलाफ पीआईएसएफ  ने निकाली रैली, दोषियों को फांसी देने की मांग

रायपुर। देश में महिलाओं के साथ लगातार हो रहे बलात्कार  के विरोध में टीम पब्लिक इशू सोशल फाउंडेशन (पीआईएसएफ) ने मरीन ड्राइव पर हाथों में स्लोगन लिखी हुई तख्तियां लेकर अपराधियों को सार्वजनिक रूप से फांसी दिए जाने की मांग करते हुए युवाओं एवं महिलाओं के साथ शांति मार्च किया। पीआईएसएफ  के चैयरमेन नितिन भंसाली के नेतृत्व में फाउंडेशन के सदस्यों ने मंगलवार शाम स्थानीय युवाओं, महिलाओं और छात्रों के साथ राजधानी के तेलीबांधा स्थित मरीन ड्राइव पर महिलाओं-बेटियों के साथ हो रहे बलात्कार, हत्या जैसे गंभीर मामलों का विरोध करते हुए  हाथों में तख्तियां लेकर शांति मार्च करते हुए राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री से इन जघन्य अपराधों के दोषियों को समय सीमा के भीतर सार्वजनिक रूप से फांसी  दिए जाने की मांग की। प्रदर्शनकारियों  ने एक स्वर में कहा कि अब ऐसे मामलों में निंदा करने या मोमबत्ती जलाकर श्रद्धांजलि देने से कुछ नहीं होगा। इसके खिलाफ संसद में कड़ा कानून बनाना और उसे तत्काल लागू किया जाना आवश्यक हो गया है। नितिन भंसाली ने बलात्कार  के आरोपियों को सार्वजनिक रूप से फांसी दिए जाने की मांग को लेकर  राष्ट्रपति ओर प्रधानमंत्री के नाम पोस्ट कार्ड, ई मेल भेजकर एक अभियान चलाए जाने की भी घोषणा की। आज के कार्यक्रम में प्रमुख रूप से पार्थ घोष, अरुण छाबड़ा, आभा मिश्रा, श्रिया अनुपम, चांदनी वलेरा, मिंदर सलूजा, ललित जोबनपुत्र, विश्वास पंडित, मुस्कान जग्यसी, हर्षा  बावनकर, मोनाली गुहा, तिरु मिश्रा, सत्येंद्र श्रीवास्तव, राहुल अरोरा, रंजीत अरोरा, ईशा भगोरिया आदि उपस्थित थे।

 

 

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.